एडवांस्ड सर्च

बिहार: मुश्किल में फंसे बाहुबली विधायक अनंत सिंह, होने जा रही है बड़ी कार्रवाई

बिहार के मोकामा से निर्दलीय बाहुबली विधायक अनंत सिंह की मुश्किलें अब बढ़ गई हैं. आखिरकार पहली बार इंकार करने के बाद गृह विभाग ने अनंत सिंह पर क्राइम कंट्रोल एक्ट (सीसीए) लगाने का प्रस्ताव स्वीकार कर लिया है.

Advertisement
aajtak.in
मुकेश कुमार/ सुजीत झा पटना, 28 September 2016
बिहार: मुश्किल में फंसे बाहुबली विधायक अनंत सिंह, होने जा रही है बड़ी कार्रवाई निर्दलीय बाहुबली विधायक अनंत सिंह

बिहार के मोकामा से निर्दलीय बाहुबली विधायक अनंत सिंह की मुश्किलें अब बढ़ गई हैं. आखिरकार पहली बार इंकार करने के बाद गृह विभाग ने अनंत सिंह पर क्राइम कंट्रोल एक्ट (सीसीए) लगाने का प्रस्ताव स्वीकार कर लिया है. इससे पहले गृह मंत्रालय ने पटना के जिलाधिकारी के अनंत सिंह पर सीसीए लगाने के प्रस्ताव को खारिज करते हुए वापस कर दिया था. पटना के जिलाधिकारी से कई बिंदुओं पर स्पष्टीकरण मांगा था, जिसके बाद सूचना उपलब्ध कराई गई थी. इसके आधार पर ये कार्रवाई की गई है.

विधायक अनंत सिंह पर सीसीए लगाने के प्रस्ताव पर गृह विभाग से संपुष्टि होने के बाद इसे पटना उच्च न्यायालय की एडवाइजरी बोर्ड में भेजा जाएगा. एडवाइजरी बोर्ड सीसीए के प्रस्ताव को 15 दिनों के अंदर स्वीकृत या खारिज कर सकती है. लेकिन, तब तक विधायक पर सीसीए प्रभावी रहेगा. इसके लगने के बाद विधायक अनंत सिंह को अब कम से कम एक साल तक जेल में ही रहने पड़ेगा. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक दिन पहले ही पटना में कहा था कि बिहार में डॉन की कोई जगह नहीं है.

डॉन पर बिहार सरकार की फजीहत
यदि कोई डॉन बिहार में बाहर दिख भी जाता है तो उसकी जगह अंदर होगी. आरजेडी के पूर्व बाहुबली सांसद शहाबुद्दीन को पटना हाईकोर्ट से जमानत मिलने के समय ही विधायक अनंत सिंह पर सीसीए लगाने की चर्चा सुनने को मिली थी. पटना पुलिस ने अनंत सिंह पर सीसीए लगाने का प्रस्ताव जिलाधिकारी के पास भेजा था, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया था. पूर्व सांसद शहाबुद्दीन को जमानत और विधायक अनंत सिंह पर सीसीए लगाने की चर्चा को लेकर सरकार की उन दिनों खूब फजीहत भी हुई थी.

राजू अपहरण कांड में हुए अरेस्ट
विधायक अनंत सिंह पर 7 सितंबर को सीसीए लगाने का प्रस्ताव पहली बार भेजा गया था. उसी दिन शहाबुद्दीन को पटना हाईकोर्ट से जमानत मिली थी. अब शहाबुद्दीन की जमानत रद्द करने के लिए बिहार सरकार सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर चुकी है. बुधवार को इस मामले में सुनवाई भी होनी है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से रिश्ते खराब होने के बाद अनंत सिंह को राजू अपहरण कांड में गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था. इसके बाद अनंत सिंह के सारे पुराने मुकदमे खोल दिए गए थे.

कौन हैं बाहुबली अनंत सिंह
लोगों के बीच 'छोटे सरकार' के नाम से चर्चित अनंत सिंह इनदिनों पटना के बेऊर जेल में बंद है. मर्सिडीज से लेकर बग्घी तक की सवारी करने वाले अनंत को हत्या और अपहरण के मामले में गिरफ्तार किया गया है. मामला चार युवकों के अपहरण और उनमें से एक की हत्या का है. बीते 17 जून को पटना के बाढ़ में चार युवकों ने एक महिला से छेड़छाड़ कर दी. आरोप है कि अनंत के इशारे पर उनके गुर्गों ने चारों युवकों को अगवा कर लिया था. उनमें से एक युवक की दर्दनाक तरीके से हत्या कर दी गई थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay