एडवांस्ड सर्च

अनंत सिंहः जुर्म की दुनिया से सियासत तक का सफर

'छोटे सरकार' के नाम से चर्चित अनंत सिंह मर्सिडीज से लेकर बग्घी तक की सवारी कर चुके हैं. अनंत को हत्या और अपहरण के मामलों में कई बार गिरफ्तार किया गया. लेकिन हर बार वे छूटकर बाहर आ गए.

Advertisement
aajtak.in [Edited by: परवेज़ सागर]नई दिल्ली, 29 January 2019
अनंत सिंहः जुर्म की दुनिया से सियासत तक का सफर अनंत सिंह ने 2005 में मोकामा से ही JDU के टिकट पर चुनाव जीता था (फाइल फोटो)

कांग्रेस के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ने का ऐलान करने वाले बिहार के मोकामा से निर्दलीय विधायक अनंत सिंह किसी ना किसी बात को लेकर अक्सर चर्चाओं में बने रहते हैं. अब उन्होंने कांग्रेस के टिकट पर मुंगेर से चुनाव लड़ने की बात तो कह दी लेकिन अभी तक इस बारे में उनकी किसी कांग्रेस नेता से कोई बातचीत नहीं हुई है. बाहुबली अंनत सिंह का विवादों से पुराना नाता है.

कानून की किताब में शायद ही कोई ऐसी धारा बची हो जिसके तहत अनंत सिंह के नाम पर केस दर्ज न हो. अनंत सिंह पर ढाई दर्जन से अधिक संगीन मामले दर्ज हैं. इनमें कत्ल, अपहरण, फिरौती, डकैती और बलात्कार जैसे तमाम संगीन मामले शामिल हैं. अकेले सिर्फ बिहार के बाढ़ थाने में ही कुल 23 संगीन मामले दर्ज थे. ये बात दीगर है कि अनंत सिंह अपने रसूख से इनमें से कई मामलों में बरी हो चुके हैं.

लोगों के बीच 'छोटे सरकार' के नाम से चर्चित अनंत सिंह मर्सिडीज से लेकर बग्घी तक की सवारी कर चुके हैं. अनंत को हत्या और अपहरण के मामलों में कई बार गिरफ्तार किया गया. अनंत सिंह ने जुर्म की दुनिया के साथ साथ सियासी गलियारों में भी अपनी पैठ बढ़ाई और नीतीश कुमार के नजदीक आ गए. उनकी दोस्ती अनंत को बहुत रास आई और नवबंर 2005 में वो मोकामा से जेडीयू के टिकट पर चुनाव जीत गए थे. मोकामा के इस ‘डॉन’ की सरकार अलग ही चलती है. उसके खिलाफ कई आपराधिक मामले भी सामने आए, लेकिन सरकार के दबाव के चलते पुलिस उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर सकी.

2005 में लालू प्रसाद यादव के खिलाफ चुनाव लड़ने के दौरान नीतीश ने बिहार को अपराधियों से मुक्त करने का वादा तो किया लेकिन चुनाव जीतने के लिए अनंत का ही सहारा लिया. सत्ता में आने के बाद बिहार में 80,000 से ज्यादा अपराधियों को अदालतों की ओर से दोषी करार दिया गया. हजारों अपराधी जेल भेजे गए, जिनमें लालू प्रसाद का करीबी मोहम्मद शहाबुद्दीन भी शामिल था. लेकिन अनंत को छूने की हिम्मत किसी में नहीं हुई.

2007 में एक महिला से बलात्कार और हत्या के मामले में उनके शामिल होने की बात सामने आई. जब इस संबंध में एक चैनल के पत्रकार ने उनसे सवाल किया तो बाहुबल के नशे में चूर विधायक ने उन्हें जमकर पीटा. मामले ने तूल पकड़ा और विधायक की गिरफ्तारी भी हुई. लेकिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने चुप्पी साध ली. 2013 में उन पर पटना के पॉश पाटलिपुत्र कॉलोनी स्थित अपने होटल के सामने अतिक्रमण करने का आरोप भी लग चुका है.

विधायक बनने के पांच साल बाद ही अनंत सिंह की संपत्ति कई गुना बढ़ गई. 2005 में अनंत सिंह ने अपने चुनावी हलफनामे में 3.40 लाख रुपये की मामूली संपत्ति होने की घोषणा की थी, जो 2010 में बढ़कर 38.84 लाख रुपये तक पहुंच गई. अब तक सार्वजनिक तौर पर ऐसी कोई जानकारी सामने नहीं आई है कि उनसे कभी इस दुर्लभ तरीके से और तत्काल अमीर बनने के बारे में कोई सवाल किया गया हो.

2007 में जानवरों के मेले में वह लालू यादव का घोड़ा लेकर पहुंचे थे. अनंत सिंह को पता था कि लालू उन्हें अपना घोड़ा नहीं बेचेंगे, इसलिए उन्होंने किसी और के जरिए घोड़ा खरीदा था. अजगर पालने जैसी अपनी सनक के लिए चर्चित ये विधायक पहले भी कई विवादों में फंस चुके हैं. मसलन, दूसरे की मर्सिडीज का मनमाने ढंग से दबावपूर्वक इस्तेमाल करना या फिर एक कार्यक्रम के दौरान हवाई फायरिंग करना भी उनके रिकॉर्ड में दर्ज है.

अनंत ने पेट्रोल बचाने के लि‍ए अपने मर्सिडीज छोड़कर घोड़ा-बग्‍गी चलाई. हमेशा वि‍वादों में घि‍रे रहने वाले अनंत सिंह ने वि‍धानसभा जाने के लि‍ए घोड़ा-बग्‍गी का इस्‍तेमाल कि‍या. उनका कहना था कि उन्होंने अपने लि‍ए ये बग्‍गी दि‍ल्‍ली में बनवाई थी. इसे कुछ साल पहले घर मंगवाया. इसके बाद से लगातार वह घोड़ा-बग्‍गी ही चलते हैं. उनका कहना था कि इससे पेट्रोल की बचत होती है.

अनंत सिंह के घर पर एसटीएफ ने 2004 में धावा बोला था. घंटों गोलीबारी हुई. गोली अनंत सिंह को भी लगी थी. लेकिन वो बच गए. हालांकि, इस एनकाउंटर में उनके आठ लोग मारे गए. इसके बाद उन्होंने घर को किले में तब्दील कर लिया. उन्होंने इस मकान में कुल 50 परिवारों को किराए पर रख लिया. जानते हैं क्यों? ताकि फिर कभी पुलिस या एसटीएफ उन पर धावा बोले तो ये परिवार उनके लिए ढाल का काम करे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
पाएं आजतक की ताज़ा खबरें! news लिखकर 52424 पर SMS करें. एयरटेल, वोडाफ़ोन और आइडिया यूज़र्स. शर्तें लागू
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay