एडवांस्ड सर्च

Advertisement

लड़क‍ियों को गाड़ी हटाने को कहा तो एमिटी यूनिवर्सिटी में बहा खून

भूपेंद्र चौधरी
04 September 2019
लड़क‍ियों को गाड़ी हटाने को कहा तो एमिटी यूनिवर्सिटी में बहा खून
1/5
छोटे से पार्किंग व‍िवाद के बाद शुरू हुआ मामला कब खूनी खेल में बदल गया, पता ही नहीं चला. मंगलवार को नोएडा की एमिटी यूनिवर्सिटी ट्व‍िटर पर ट्रेंड करता रहा. दरअसल बीती 28 तारीख को एमिटी यूनिवर्सिटी के नोएडा सेक्टर 125 स्थित कैंपस में पार्किंग विवाद को लेकर दो छात्रों हर्ष यादव और माधव चौधरी का एक लड़की से व‍िवाद हो गया.उसके बाद लड़की के साथ‍ियों ने दोनों छात्रों की बेरहमी से पिटाई कर दी थी. दोनों ही छात्र यूनिवर्सिटी में बीए (पॉलिटिकल साइंस) के छात्र हैं.



लड़क‍ियों को गाड़ी हटाने को कहा तो एमिटी यूनिवर्सिटी में बहा खून
2/5
यह विवाद पार्किंग से शुरू हुआ और फिर मारपीट में बदल गया. 28 अगस्त को एमिटी यूनिवर्सिटी के दोनों छात्र दोपहर करीब ढाई बजे i20 कार से यूनिवर्सिटी आ रहे थे. वह जिस यूनिवर्सिटी गेट से एंट्री कर रहे थे वहीं पर एक एंडेवर गाड़ी लगी हुई थी. उस गाड़ी में दो लड़कियां बैठी हुई थीं. दोनों लड़कों ने गार्ड से गुजारिश की वो एंडेवर गाड़ी को हटवा दें लेकिन लड़कियों ने गाड़ी नहीं हटाई. इसके बाद दोनों पक्षों में बहस हुई.
लड़क‍ियों को गाड़ी हटाने को कहा तो एमिटी यूनिवर्सिटी में बहा खून
3/5
दोनों लड़के इसके बाद यूनिवर्सिटी कैंपस में चले गए. इसके करीब घंटे भर बाद वह लड़कियां क्लासरूम में 25 लड़के लेकर पहुंच गईं. इसके बाद लड़कियों के साथ आए लड़कों ने हर्ष और माधव की बुरी तरह पिटाई करना शुरू कर दिया. इस दौरान कुर्सियां उठाकर भी फेंकी गईं.
लड़क‍ियों को गाड़ी हटाने को कहा तो एमिटी यूनिवर्सिटी में बहा खून
4/5
जानकारी के मुताबिक इसमें कुछ शिक्षकों को भी चोट आईं. मारपीट के बाद लड़के भाग गए. इसके बाद हर्ष और माधव यह देखने बाहर आ गए कि पुलिस आई है या नहीं तो उन्हें फिर लड़कों के झुंड ने घेर लिया. उन्हें रॉड और पत्थरों से पीटा गया. दोनों को बेहद गंभीर चोटें लगी थीं.
लड़क‍ियों को गाड़ी हटाने को कहा तो एमिटी यूनिवर्सिटी में बहा खून
5/5
मामले में FIR लिखा दी गई है वहीं लड़कियों की तरफ से भी एफआईआर दर्ज कराई गई है जिसमें इन लड़कियों का आरोप है कि उनके साथ छेड़छाड़ की गई. पुलिस का कहना है कि हमारे पास दो क्रॉस एफआईआर आई हैं. हम सीसीटीवी फुटेज के जरिए घटना की सच्चाई जानने कोशिश कर रहे हैं.
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay