एडवांस्ड सर्च

एलन विल्किंस की क्रिकेटिया 'गुगली'

अंग्रेज खिलाड़ी केविन पीटरसन की चोट से आईसीसी क्रिकेट विश्वकप में इंग्लैंड की संभावनाएं बढ़ गई दिखती हैं. हर्निया के ऑपरेशन के लिए वापस इंग्लैंड गया यह बल्लेबाज अब इस टूर्नामेंट के अलावा आईपीएल में भी नहीं खेल पाएगा.

Advertisement
आजतक ब्‍यूरोनई दिल्‍ली, 17 March 2011
एलन विल्किंस की क्रिकेटिया 'गुगली'

''क्रिकेट के सबसे बड़े टूर्नामेंट के भीतर की जानकारी, मैदान और मैदान से बाहर की बातें''

नसीब अपना
अंग्रेज खिलाड़ी केविन पीटरसन की चोट से आईसीसी क्रिकेट विश्वकप में इंग्लैंड की संभावनाएं बढ़ गई दिखती हैं. हर्निया के ऑपरेशन के लिए वापस इंग्लैंड गया यह बल्लेबाज अब इस टूर्नामेंट के अलावा आईपीएल में भी नहीं खेल पाएगा. पर इंग्लैंड की गर्मियों में भारतीय टीम के दौरे तक वे पूरी तरह से फिट हो जाएंगे. कुछ कमेंटेटरों और पूर्व खिलाड़ियों का कहना है कि हर्निया की चोट उभरने का इससे अच्छा कोई अवसर नहीं हो सकता था. इससे आयरिश मूल के खिलाड़ी इयॉन मॉर्गन को इंग्लैंड की टीम में खेलने का मौका मिल गया है. आयरलैंड के खिलाफ हारने के बाद इंग्लैंड के कप्तान एंड्रयू स्ट्रॉस को अब शायद अपनी किस्मत के सितारे को एक अदद आयरिश स्पर्श काम कर जाए. कौन जाने कब क्या काम आ जाता है.

नया रोल
यह टूर्नामेंट खत्म होने के बाद विश्वकप में टीवी के कई कमेंटेटर एक नए पेशे के लिए अपना-अपना धंधा छोड़ सकते हैं. कई अंतरराष्ट्रीय टीमों के प्रशिक्षकों की जगहें खाली हो रही हैं. भारत, दक्षिण अफ्रीका और श्रीलंका अपने प्रशिक्षक बदल रहे हैं. ऐसे में टीवी पर चकचक करते वाचाल सितारों को एक नई भूमिका में देखें तो हैरत में मत पड़िएगा.

रहस्य फुटबॉल का
भारत ने दिल्ली में हुए लीग मैच में नीदरलैंड को भले पीट दिया हो लेकिन उस टीम के कोच पीटर ड्रिनेन यह जांचने को उत्सुक हैं कि भारतीय खिलाड़ियों का फुटबॉल में हाथ कैसा है भला. अपनी टीम का अभ्यास सत्र खत्म होने के बाद ड्रिनेन भारतीय टीम के अभ्यास के जरूरी हिस्से वाले उसके फुटबॉल मैच को देखने के लिए वहीं रुक गए. नीदरलैंड के कोच ने पेशे के तौर पर भले क्रिकेट को अपना लिया हो लेकिन नारंगी टीम के सच्चे राजदूत के रूप में उनका दिल तो फुटबॉल में ही रमता दिखता है.

कदकाठी का असर
कोलंबो से कैंडी तक का सफर अमूमन बड़ा थकाऊ होता है. सुस्त रफ्तार वाला ट्रैफिक और ऊपर से समुद्री हवाओं के थपेड़े, आंख कान नाक पर बहुत बुरी बीतती है. साथी कमेंटेटरों पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी टॉम मूडी और पाकिस्तान के लिए खेले रमीज राजा के साथ मैं न्यूजीलैंड बनाम पाकिस्तान मैच की कमेंट्री के लिए कैंडी से 25 किमी दूर पल्लेकेले के सफर पर निकल पड़ा. पुलिसवालों ने यातायात के नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में हमारी कार को रोक लिया. ड्राइवर की पुलिस के साथ 10 मिनट नोकझेंक चली. तभी 6 फुट 9 इंच लंबे मूडी उतर पड़े. कदकाठी देखते ही पुलिसवाले 'शुभयात्रा' कहकर फौरन कट लिए.

''लेखक विश्वकप 2011 के लिए ईएसपीएन स्टार स्पोर्ट्‌स के कमेंटेटर हैं''

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay