एडवांस्ड सर्च

गेंदबाजों को कम न समझे: जवागल श्रीनाथ

भारतीय गेंदबाजों के बारे में काफी कुछ कहा गया है, लेकिन मैं सोचता हूं कि उन्होंने काफी बढ़िया काम किया है. हमें यह जरूर समझ्ना होगा कि गेंदबाजों के साथ अच्छा सलूक नहीं किया गया है.

Advertisement
Assembly Elections 2018
कौशिक डेकानई दिल्‍ली, 31 October 2013
गेंदबाजों को कम न समझे: जवागल श्रीनाथ

''पीयूष चावला में धोनी के अटल भरोसे से भारत को वांछित परिणाम मिलेंगे, क्योंकि लेग स्पिनर होते हैं मैच जिताने वाले''

भारतीय गेंदबाजों के बारे में काफी कुछ कहा गया है, लेकिन मैं सोचता हूं कि उन्होंने काफी बढ़िया काम किया है. हमें यह जरूर समझ्ना होगा कि गेंदबाजों के साथ अच्छा सलूक नहीं किया गया है.

बैंगलुरू की पिच बेहद सपाट थी और यही कारण है कि लगभग हरेक टीम ने 300 से ज्‍यादा रन दिए. हालात गेंदबाजों के खिलाफ हैं. भारतीय गेंदबाजों को इस बात का श्रेय जरूर दिया जाना चाहिए कि इंग्लैंड के खिलाफ मैच में वे टीम को फिर मुकाबले में ले आए. जब एंड्रयू स्ट्रॉस और इयान बेल अपनी लय में थे, तो एक निश्चित हार भारतीय टीम के सामने मुंह बाये खड़ी थी. न केवल इस भागीदारी को तोड़ने बल्कि भारत को अगर जीत नहीं, तो टाई दिलाने के लिए जहीर खान ने बेहद अच्छी गेंदबाजी की.

विवाद की एक और वजह यह है कि अंतिम एकादश में पीयूष चावला का चयन क्यों किया गया. मैं समझता हूं यह बहुत अच्छा विचार है. लेग स्पिनर हमेशा मैच जिताने वाले होते हैं और चावला को लेकर कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का अड़ियल रवैया भारत को जल्द ही वांछित परिणाम देगा. उसकी क्षमताओं पर कप्तान का विश्वास बहुत खुशी की बात है. बाकी गेंदबाजों का प्रदर्शन को देखते हुए, इस युवा गेंदबाज के प्रदर्शन उतना बुरा भी नहीं कहा जा सकता. लगभग सभी गेंदबाजों ने अपने निर्धारित 10 ओवरों में 60 से ज्‍यादा रन दिए हैं.

यह टूर्नामेंट जैसे-जैसे आगे बढ़ेगा, गेंदबाजों की भूमिका और अहम होती जाएगी. विकेट और ज्‍यादा टर्न लेने लगेंगे और स्पिनर्स ज्‍यादा प्रभावी होते जाएंगे. विश्व कप के लिए भारत के अभियान के लिए हरभजन सिंह को एक बड़ी भूमिका अदा करनी होगी. मुझे विश्वास है कि जल्द ही वे विकेट भी लेने लगेंगे. जहीर खान के साथ वे हमारे लिए मुख्य विकेट लेने वाले गेंदबाज होंगे. मुनफ पटेल को विपक्षी टीम के रन रेट पर नियंत्रण लगाने की भूमिका अदा करनी होगी. निर्णायक क्षणों पर विकेट ले लेने की क्षमता आशीष नेहरा में भी है.

बाकी टीमों में से ऑस्ट्रेलिया के पास बेहद सशक्त गेंदबाजी आक्रमण है. उसके तेज गेंदबाज ब्रेट ली का प्रदर्शन बेहद महत्वपूर्ण होगा. वे पांसा पलटने वालों में से हैं. शॉन टेट भी अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं. एक अन्य टीम जिससे मैं गेंदबाजी में अच्छे प्रदर्शन की अपेक्षा करता हूं, वह पाकिस्तान है. सईद अजमल के रूप में उनके पास एक बेहद संभावनाशील गेंदबाज है. कप्तान शाहिद आफरीदी शानदार गेंदबाजी कर रहे हैं. वे इस कारण सफल रहे हैं, क्योंकि वे बेहद सटीक हैं और हवा में काफी तेज गेंद डालते हैं. उनमें एक-दो अजीब गेंद डालने और खेल पलटने की भी क्षमता है.

''जवागल श्रीनाथ भारत के पूर्व तेज गेंदबाज हैं और न्यूज एक्स पर विशेषज्ञ कमेंटेटर हैं.''

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay