एडवांस्ड सर्च

Advertisement

सहवाग के बल्‍ले ने उगली आग...

अपने विस्फोटक तेवरों के लिये मशहूर वीरेंद्र सहवाग की संयम और आक्रामकता का बेजोड़ नमूना पेश करती शतकीय पारी और युवा सनसनी विराट कोहली के नाबाद शतक से विशाल स्कोर खड़ा करने वाले भारत ने ग्रुप बी में बांग्लादेश को 87 रन से हराकर शाही अंदाज में विश्व कप अभियान की शुरुआत की.
सहवाग के बल्‍ले ने उगली आग...
आज तक वेब ब्‍यूरोनई दिल्‍ली, 20 February 2011

अपने विस्फोटक तेवरों के लिये मशहूर वीरेंद्र सहवाग की संयम और आक्रामकता का बेजोड़ नमूना पेश करती शतकीय पारी और युवा सनसनी विराट कोहली के नाबाद शतक से विशाल स्कोर खड़ा करने वाले भारत ने ग्रुप बी में बांग्लादेश को 87 रन से हराकर शाही अंदाज में विश्व कप अभियान की शुरुआत करने के साथ ही चार साल पहले मिली हार का बदला चुकता कर दिया.

सहवाग ने 175 रन की अपने कैरियर की सर्वश्रेष्ठ पारी खेलकर कपिल देव के 1983 के स्कोर की याद ताजा कर दी. कोहली ने भी सचिन तेंदुलकर (28) और गौतम गंभीर (39) के आउट होने के बाद जिम्मेदारी से खेलते हुए नाबाद 100 रन बनाकर भारत का स्कोर चार विकेट 370 रन पर पहुंचाने में अहम भूमिका निभायी.

तेंदुलकर के आउट होने के बाद सहवाग ने अधिक जिम्मेदारी दिखायी. उन्होंने पारी 15वें ओवर में रज्जाक की गेंद पर पारी का पहला छक्का जमाया, लेकिन पहले दो पावरप्ले समाप्त होने के बाद उन्होंने और गंभीर ने काफी समझबूझ से पारी आगे बढ़ायी और किसी तरह का जोखिम नहीं उठाया.

सहवाग ने महमूदुल्‍लाह की गेंद पर एक रन लेकर बांग्लादेश के खिलाफ पहला, विश्व कप में दूसरा और कुल 14वां शतक पूरा किया. जब लग रहा था कि सहवाग आखिर तक टिककर 200 रन के करीब पहुंच जाएंगे तब साकिब की फुललेंग्थ गेंद उनके बल्ले के निचले हिस्से से लगकर विकेटों में समा गयी. उन्होंने इस दौरान हालांकि 146 रन के अपने पिछले उच्चतम स्कोर को पीछे छोड़ा. यही नहीं यह बांग्लादेश के खिलाफ किसी भारतीय का सर्वोच्च स्कोर भी

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay