एडवांस्ड सर्च

Advertisement

क्रिकेटरों को महंगा पड़ेगा विरोधी कंपनियों से करार

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने उन खिलाड़ियों को विश्व कप से बाहर करने की धमकी दी है जो जाने अनजाने उन कंपनियों के प्रचार कार्यक्रम में शामिल रहेंगे जो कि इस टूर्नामेंट की प्रयोजक कंपनियों की प्रतिद्वंद्वी हैं.
क्रिकेटरों को महंगा पड़ेगा विरोधी कंपनियों से करार आईसीसी
भाषामुंबई, 04 February 2011

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने उन खिलाड़ियों को विश्व कप से बाहर करने की धमकी दी है जो जाने अनजाने उन कंपनियों के प्रचार कार्यक्रम में शामिल रहेंगे जो कि इस टूर्नामेंट की प्रयोजक कंपनियों की प्रतिद्वंद्वी हैं.

आईसीसी के मुख्य कानूनी सलाहकार डेविड बेकर ने सभी अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों और क्रिकेट बोर्ड को विश्व कप के दौरान विज्ञापनों और अनुबंधों के संबंध में दिशानिर्देश जारी करते हुए नोटिस भेजा है. इसमें कहा गया है, ‘टीम का कोई भी सदस्य जानबूझकर या अनजाने में टीम के नियमों का उल्लघंन करता है तो उसे प्रतिबंध झेलना पड़ेगा जिसमें वित्तीय जुर्माने के अलावा खिलाड़ी को विश्व कप में भाग लेने से रोकना भी शामिल है.’

दिलचस्प बात है कि पिछले साल 26 अक्तूबर को यह नोटिस भेजा गया था लेकिन ऐसा लगता है कि भारतीय खिलाड़ियों ने अब इसको गंभीरता से लिया है. सचिन तेंदुलकर समेत चार खिलाड़ियों ने इस संबंध में बातचीत करने के लिये बीसीसीआई अध्यक्ष शंशाक मनोहर से बैठक का समय लिया.

ऐसा समझा जाता है कि तेंदुलकर के अलावा आशीष नेहरा, युवराज सिह और हरभजन सिंह ने इंडियन प्रीमियर लीग की संचालन परिषद की बैठक से पहले बीसीसीआई प्रमुख के साथ बैठक की.

आईपीएल फ्रेंचाइजी के एक सूत्र ने कहा कि खिलाड़ियों ने बैठक की थी क्योंकि आईसीसी ने ब्रांड विज्ञापन करार पर प्रतिबंध लगा दिया है जो विश्व कप शुरू होने से सात दिन पहले शुरू हो जायेगा और टीम के टूर्नामेंट से बाहर होने के बाद ही खत्म होगा.

बेकर ने अपने नोटिस में कहा, ‘सभी टीमों के सदस्यों को किसी भी समय किसी तीसरे पक्ष के विज्ञापन या प्रचार कार्यक्रम में अपना नाम, पसंद या छवि का इस तरह से उपयोग करने की अनुमति नहीं दी जा सकती जिसका टूर्नामेंट (विश्व कप) से परोक्ष या अपरोक्ष संबंध नहीं हो.’

इसके अनुसार, ‘टूर्नामेंट के पहले मैच से सात दिन पहले और टीम के टूर्नामेंट से बाहर होने की तारीख तक टीम के सदस्यों को टीम किट, टीम यूनीफार्म पहने या अभ्यास किट के साथ अपना नाम, पसंद या छवि किसी तीसरे पक्ष के विज्ञापन या प्रचार कार्यक्रम में उपयोग करने की अनुमति नहीं दी जा सकती.’

नोटिस के मुताबिक, ‘टीम के सदस्य खेलते समय किसी तीसरे पक्ष के ब्रांड, चिन्ह या प्रतीक चिन्ह (मंजूरी प्राप्त किट निर्माणकर्ता, टीम प्रायोजक या टीम लोगो को छोड़कर) का उपयोग नहीं कर सकते.’

आईसीसी ने टीम सदस्यों को तभी टूर्नामेंट के दौरान विज्ञापन या प्रचार कार्यक्रम में भाग लेने की अनुमति दी है जब वे क्रिकेट की सफेद पोशाक या ‘किसी अन्य तरह की पोशाक’ पहने हों जिससे यह पता चले कि वे अपनी राष्ट्रीय टीम के रंग की पोशाक में नहीं हैं और जिसका विश्व कप या आईसीसी के लोगो या टूर्नामेंट से किसी तरह का सीधा संबंध नहीं हो.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay