एडवांस्ड सर्च

Advertisement

शरत और साहा को स्वर्ण, टेटे में एक और कांस्य तय

ओलंपियन अचंता शरत कमल और पूर्व राष्ट्रीय चैम्पियन शुभाजीत साहा ने बुधवार को सिंगापुर के गाओ निंग और यांग जि को 3-2 से हराकर राष्ट्रमंडल खेलों की टेबल टेनिस पुरूष युगल स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीत लिया.
शरत और साहा को स्वर्ण, टेटे में एक और कांस्य तय
भाषानई दिल्ली, 13 October 2010

ओलंपियन अचंता शरत कमल और पूर्व राष्ट्रीय चैम्पियन शुभाजीत साहा ने बुधवार को सिंगापुर के गाओ निंग और यांग जि को 3-2 से हराकर राष्ट्रमंडल खेलों की टेबल टेनिस पुरूष युगल स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीत लिया.

शरत और साहा की शुरूआत अच्छी नहीं रही और पहले ही गेम में उन्हें 9-11 से पराजय झेलनी पड़ी. दोनों ने हालांकि लगातार दो गेम 12-10 और 11-4 से जीतकर लय बना ली. चौथे गेम में उन्होंने 11-5 से जीत दर्ज की. बेस्ट आफ फाइव के निर्णायक मुकाबले में भारतीय जोड़ी ने एकाग्रता बनाये रखी और 11-8 से जीतकर पीला तमगा हासिल किया.

जीत के बाद शरत ने कहा, ‘हमने पहली बार पुरूष युगल में स्वर्ण जीता है जो ऐतिहासिक है. इससे मुझे एकल मैचों के प्रदर्शन से ज्यादा संतोष मिला है.’ इससे पहले शरत का एकल खिताब जीतने का सपना चूर चूर हो गया जब यांग ने उसे सेमीफाइनल में 4-3 से हरा दिया.

दुनिया के 40वें नंबर के खिलाड़ी शरत ने यांग के खिलाफ सेमीफाइनल में 1-0 की बढ़त बना ली लेकिन बाद में लय कायम नहीं रख सके. अब वह कांस्य पदक के लिये सौम्यदीप राय से भिड़ेंगे. इससे पहले शरत और पूर्व राष्ट्रीय चैम्पियन साहा इंग्लैंड के एंड्रयू बागाले और एल पिचफोर्ड को 3-2 से हराकर राष्ट्रमंडल खेलों की पुरूष युगल स्पर्धा के फाइनल में पहुंचे.

सौम्यदीप राय सेमीफाइनल में दुनिया के 17वें नंबर के खिलाड़ी सिंगापुर के गाओ निंग से हार गए. शरत और साहा ने पहला गेम 11-13 से गंवा दिया जबकि दूसरे गेम में 11-7 से वापसी की. अगले गेम में इंग्लैंड के खिलाड़ी 11-7 से जीते. चौथे गेम में भारतीयों ने 12-10 से जीत दर्ज की और पांचवां गेम 11-6 से जीतकर फाइनल में जगह बना ली. पुरूष एकल में सौम्यदीप राय पहले दो गेम 2-11 से हार गए. इसके बाद सिंगापुर के प्रतिद्वंद्वी ने 11-9, 11-7 से जीत दर्ज कर ली.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay