एडवांस्ड सर्च

Advertisement

राष्ट्रमंडल खेलों से फायदे के बजाय हुआ नुकसान: केन्द्र

केन्द्र सरकार ने आज बताया कि राष्ट्रमंडल खेल आयोजन समिति को इस मैगा आयोजन से राजस्व का कोई लाभ नहीं हुआ. उल्टे उसे 1980.79 करोड़ रुपये का घाटा उठाना पड़ा है.
राष्ट्रमंडल खेलों से फायदे के बजाय हुआ नुकसान: केन्द्र
भाषानई दिल्‍ली, 23 November 2010

केन्द्र सरकार ने आज बताया कि राष्ट्रमंडल खेल आयोजन समिति को इस मैगा आयोजन से राजस्व का कोई लाभ नहीं हुआ. उल्टे उसे 1980.79 करोड़ रुपये का घाटा उठाना पड़ा है.

खेल राज्य मंत्री प्रतिक प्रकाशबापू पाटिल ने लोकसभा में आज बताया कि राष्ट्रमंडल खेल आयोजन समिति को राजस्व का कोई फायदा नहीं हुआ क्योंकि अभी तक केवल 327.03 करोड़ रूपये का ही राजस्व मिला जबकि उसे कुल 2307. 82 करोड़ रूपये का रिण जारी किया गया था.

उन्होंने बताया कि इस प्रकार रिण की मात्रा को देखते हुए आयोजन समिति को 1980. 79 करोड़ रूपये का घाटा उठाना पड़ा है.

पाटिल ने बताया कि आयोजन समिति को 2587. 42 करोड़ रूपये का रिण मंजूर हुआ था जिसमें से उसे 2307.82 करोड़ रूपया दिया गया. आयोजन समिति ने टिकटों की बिक्री से 39.17 करोड़, प्रायोजन से 114.15 करोड़ और अंतरराष्ट्रीय टीवी अधिकारों से 173. 71 करोड़ रूपये कमाए. इसके विपरीत उसने प्रायोजन से 375.05 करोड़ रूपये और अंतरराष्ट्रीय टेलीविजन अधिकारों से 213. 45 करोड़ रूपये का राजस्व होने का अनुमान लगाया था.

इस प्रकार आयोजन समिति को मुनाफे के बजाय नुकसान उठाना पड़ा.

पाटिल ने बताया कि मंत्रालय राष्ट्रमंडल खेलों के आयोजन के लिए 2474. 35 करोड़ रुपये की लागत से दुरूस्त किए गए भारतीय खेल प्राधिकरण के पांच स्टेडियमों के प्रबंधन और उनके संचालन की पीपीपी भागीदारी से संभावनाएं तलाश रहा है.

उन्होंने सफल राष्ट्रमंडल खेलों के आयोजन की सराहना करते हुए कहा कि इन खेलों ने एक स्थायी विरासत छोड़ी है जिससे सामुदायिक खेलों को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay