एडवांस्ड सर्च

भारतीय हाकी टीम का जीत के साथ आगाज

राष्ट्रमंडल खेलों में पदक जीतने का सपना संजोये उतरी भारतीय हाकी टीम ने पूल ए के अपने पहले मैच में जीत के साथ शुरूआत करते हुए मलेशिया को 3-2 से हरा दिया.

Advertisement
Sahitya Aajtak 2018
भाषानई दिल्‍ली, 05 October 2010
भारतीय हाकी टीम का जीत के साथ आगाज

राष्ट्रमंडल खेलों में पदक जीतने का सपना संजोये उतरी भारतीय हाकी टीम ने पूल ए के अपने पहले मैच में जीत के साथ शुरूआत करते हुए मलेशिया को 3-2 से हरा दिया.

पहले हाफ में स्कोर 2-2 से बराबर रहने के बाद दूसरे हाफ में भारत के लिये निर्णायक गोल 67वें मिनट में भरत चिकारा ने किया.

इससे पहले मलेशिया के लिये हनाफी हाफिफिहाफिज (16वां मिनट) और अजलन मिसरों (34वां मिनट) ने गोल दागे, जबकि भारत के लिये धनंजय महाडिक (27वां मिनट) और संदीप सिंह (35वां मिनट) ने गोल किये.

पहले हाफ में दोनों टीमें 2-2 से बराबरी पर थी. मलेशिया ने 16वें मिनट में हाफिफिहाफिज के गोल के दम पर बढत बनाई. भारत के लचर डिफेंस का फायदा उठाते हुए मोहम्मद जलील मुहम्मद मरहान ने बायें फ्लैंक से पास दिया जिसे हाफिफिहाफिज ने गोल में तब्दील कर दिया.

पहले गोल से स्तब्ध भारतीयों ने जवाबी हमले तेज कर दिये . इस बीच मेजबान को 23वें मिनट में पहला पेनल्टी कार्नर मिला जिसे धनंजय ट्रैप नहीं कर सके. इसके चार मिनट बाद मिले दूसरे पेनल्टी कार्नर को हालांकि गोल में बदलकर उन्होंने स्कोर बराबर कर दिया.

मलेशियाई खिलाड़ियों ने भी आक्रामक खेल दिखाते हुए भारत को माकूल जवाब दिया. उसे 30वें मिनट में पेनल्टी कार्नर भी मिला लेकिन वो बेकार गया. उसे 33वें मिनट में फिर गोल करने का मौका मिला लेकिन अब्दुल जलील अहमद गोल के सामने सही निशाना नहीं साध सके.

आखिरी एक मिनट में दोनों टीमों ने एक एक गोल किया. पहले मलेशिया ने 34वें मिनट में दूसरा गोल किया जो भारतीय डिफेंस की दुर्दशा की बानगी था. रहीम मोहम्मद रजी के पास पर अजलन मिसरों ने बेहद आसानी से गेंद को गोल के भीतर डाला क्योंकि सारे भारतीय डिफेंडर डी के बाहर जा चुके थे और अकेले गोलकीपर भरत छेत्री गोल के सामने थे.

आखिरी मिनट में भारतीयों ने जवाबी हमले पर पेनल्टी कार्नर बनाया जिसे अनुभवी ड्रैग फ्लिकर संदीप ने गोल में बदला.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay