एडवांस्ड सर्च

Advertisement

तिरंगा थामने वाले चौथे निशानेबाज बने बिंद्रा

बीजिंग ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाले अभिनव बिंद्रा आज राष्ट्रमंडल खेलों के उद्घाटन समारोह के दौरान ऐसे चौथे भारतीय निशानेबाज बन गये जिन्होंने खेल की बहु-विधाओं वाले किसी बड़े आयोजन में तिरंगे के साथ भारतीय दल का नेतृत्व किया.
तिरंगा थामने वाले चौथे निशानेबाज बने बिंद्रा
भाषानई दिल्‍ली, 04 October 2010

बीजिंग ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाले अभिनव बिंद्रा आज राष्ट्रमंडल खेलों के उद्घाटन समारोह के दौरान ऐसे चौथे भारतीय निशानेबाज बन गये जिन्होंने खेल की बहु-विधाओं वाले किसी बड़े आयोजन में तिरंगे के साथ भारतीय दल का नेतृत्व किया.

बिंद्रा को बीते गुरुवार भारतीय दल का ध्वजवाहक मनोनीत किया गया था. चोटी के इस निशानेबाज ने जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में 619 सदस्यीय भारतीय दल का नेतृत्व किया.

बिंद्रा ने भारतीय दल के लिये ध्वजवाहक के तौर पर अपना मनोनयन होने के बाद कहा था, ‘यह बड़े सम्मान की बात है. एक सपना साकार हो रहा है.’

बिंद्रा से पहले डॉ. कर्णी सिंह 1982 के एशियाई खेलों में, जसपाल राणा 1998 के राष्ट्रमंडल खेलों में और राज्यवर्धन सिंह राठौड़ 2006 के राष्ट्रमंडल खेलों में भारतीय दल के ध्वजवाहक रहे थे. ये सभी भारत के दिग्गज निशानेबाज हैं.

दिलचस्प रूप से, जब बिंद्रा ने 1998 में कुआलालंपुर में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में भाग लिया था तब उनकी उम्र महज 15 वर्ष थी.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay