एडवांस्ड सर्च

Advertisement

ट्रंप की धमकी पर गुर्राया चीन, कहा- अमेरिका हमें कमजोर न समझे

15 May 2019
ट्रंप की धमकी पर गुर्राया चीन, कहा- अमेरिका हमें कमजोर न समझे
1/9
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की धमकी के बाद अब चीन भी हमलावर है. चीन ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को चेतावनी दी है कि वे व्यापार युद्ध में उसे कमजोर न समझे, क्योंकि वह यह लड़ाई अंत तक लड़ने में समर्थ है.
ट्रंप की धमकी पर गुर्राया चीन, कहा- अमेरिका हमें कमजोर न समझे
2/9
चीन ने यह रुख ऐसे समय दिखाया है जब राष्ट्रपति ट्रंप ने चीन से आने वाले 200 अरब डॉलर के सामान पर आयात शुल्क 10 फीसदी से बढ़ाकर 25 फीसदी कर दिया. उन्होंने चीन से आयात होने वाले बाकी सामान पर भी शुल्क बढ़ाने की धमकी दी है.
ट्रंप की धमकी पर गुर्राया चीन, कहा- अमेरिका हमें कमजोर न समझे
3/9
चीन ने भी जबाव में 50 अरब डॉलर के अमेरिकी सामान पर प्रशुल्क की दरें बढ़ा दी हैं. अमेरिका ने पिछले साल चीन से 539 अरब डॉलर के सामान का आयात किया था, जबकि चीन को अमेरिका का निर्यात महज 120 अरब डॉलर ही था.
ट्रंप की धमकी पर गुर्राया चीन, कहा- अमेरिका हमें कमजोर न समझे
4/9
अमेरिकी राष्ट्रपति की धमकी से बिदके चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता जेंग शुआंग ने कहा, 'चीन बार-बार कहता आ रहा है कि प्रशुल्क ऊंचा करने से समस्या हल नहीं होगी. व्यापार युद्ध शुरू करने से स्वयं और अन्य के लिए नुकसान ही होता है.'

ट्रंप की धमकी पर गुर्राया चीन, कहा- अमेरिका हमें कमजोर न समझे
5/9
चीन के प्रवक्ता ने यह भी कहा, 'चीन व्यापार युद्ध की इच्छा या कामना नहीं करता पर उसे इससे किसी तरह का भय भी नहीं है. अगर किसी ने हमारे ऊपर युद्ध थोपा तो हम उसको अंत तक लड़ेंगे. हम किसी बाहरी दबाव में झुकने वाले नहीं है, हम अपने न्यायोचित अधिकारों की रक्षा का संकल्प और सामर्थ्य रखते हैं.'
ट्रंप की धमकी पर गुर्राया चीन, कहा- अमेरिका हमें कमजोर न समझे
6/9
दोनों देशों के बीच व्यापार युद्ध भड़कने के बाद यह चीन की सबसे कड़ी प्रतिक्रिया है. व्यापार वार्ता के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, '11वें दौर की वार्ता के बाद मैं समझता हूं कि दोनों पक्ष बातचीत जारी रखने पर राजी हैं.'
ट्रंप की धमकी पर गुर्राया चीन, कहा- अमेरिका हमें कमजोर न समझे
7/9
इससे पहले ट्रंप ने चीन के खिलाफ प्रशुल्क बढ़ाने के लिए कहा था कि हमने शुक्रवार तक शुल्क काफी ऊंचा कर दिया है. 200 अरब डॉलर के सामान पर यह 25 प्रतिशत हो गया है. इस तरह कुल 250 डॉलर पर 25 प्रतिशत शुल्क हो गया है. इसके अलावा हमारे पास 325 अरब डॉलर और बचा है जिस पर हम यदि चाहेंगे तो कार्रवाई कर सकते है.

ट्रंप की धमकी पर गुर्राया चीन, कहा- अमेरिका हमें कमजोर न समझे
8/9

बता दें, अमेरिका और चीन के बीच व्यापार मसले को लेकर 11वें दौर की बातचीत असफल होने के बाद अब दोनों के बीच तनातनी बढ़ गई है. समस्या का हल नहीं निकलने के लिए अमेरिका ने चीन को जिम्मेदार ठहराया है. ट्रंप ने व्यापार वार्ता के विफल होने का दोष चीन पर मढ़ दिया है.
ट्रंप की धमकी पर गुर्राया चीन, कहा- अमेरिका हमें कमजोर न समझे
9/9
साथ ही डोनाल्ड ट्रंप ने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग को चेतावनी दी थी कि अगर चीन ने व्यापार समझौता नहीं किया तो वह बुरी तरह प्रभावित होगा. ट्रंप ने ट्वीट में लिखा, 'मैं राष्ट्रपति शी जिनपिंग और चीन के अपने अन्य सभी दोस्तों से खुलेआम कहना चाहता हूं कि अगर आपने व्यापार समझौता नहीं किया तो चीन बुरी तरह प्रभावित होगा, क्योंकि कंपनियां चीन को छोड़ अन्य देश में जाने के लिए बाध्य हो जाएंगी.'
Advertisement
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay