एडवांस्ड सर्च

Advertisement

चीनी मीडिया ने चिढ़ाया- बायकॉट कर लो लेकिन सामान हमारा ही लोगे

aajtak.in [Edited by: दीपक कुमार]
20 March 2019
चीनी मीडिया ने चिढ़ाया- बायकॉट कर लो लेकिन सामान हमारा ही लोगे
1/5
बीते 14 फरवरी को हुए पुलवामा आतंकी हमले के जिम्मेदार आतंकी मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में बचाने वाले चीन ने भारत का मजाक उड़ाया है. दरअसल,  हाल ही में चीन ने जैश सरगना मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने के भारत के प्रस्ताव पर वीटो लगा दिया. चीन की इस हरकत के बाद भारत में चीनी सामान का बहिष्‍कार करने की मुहिम चल रही है. लेकिन अब इस मुहिम पर तंज कसते हुए चीन ने कहा है कि भारत चाहे या ना चाहे, उसे हमारे प्रोडक्‍ट का इस्‍तेमाल करना ही होगा.
चीनी मीडिया ने चिढ़ाया- बायकॉट कर लो लेकिन सामान हमारा ही लोगे
2/5
चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने एक आर्टिकल में लिखा है-  मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के प्रयास को यूएन में चीन द्वारा रोके जाने के बाद भारत में गुस्‍सा है. इस वजह से भारत में सोशल मीडिया पर #बॉयकॉट चाइनीज प्रोडक्ट्स काफी लोकप्रिय हो गया है. लेकिन यह प्रयास हर बार की तरह इस बार भी असफल होगा.  ग्‍लोबल टाइम्‍स अखबार ने कहा है कि भारत खुद प्रॉडक्ट्स का उत्पादन नहीं कर सकता है.
चीनी मीडिया ने चिढ़ाया- बायकॉट कर लो लेकिन सामान हमारा ही लोगे
3/5
भारतीय मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री अभी भी अविकसित है और इसमें प्रतिद्वंद्विता की क्षमता नहीं है. ऐसे में उसे न चाहते हुए भी चीन के प्रोडक्‍ट का इस्‍तेमाल करना होगा. चीन की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी से जुड़े अखबार ने कहा कि भारत के भीतर मौजूद ताकतें ही देश में सुधारों की प्रक्रिया को रोक रही हैं.
चीनी मीडिया ने चिढ़ाया- बायकॉट कर लो लेकिन सामान हमारा ही लोगे
4/5
हालांकि लेख में यह भी दावा किया गया है कि देशों के बीच पिछले कुछ साल में रिश्ते बेहतर हुए हैं. चीन भी भारत के व्यापार घाटे को कम करने की कोशिश कर रहा है. लेकिन इसके साथ ही यह भी चेताया है कि अगर आने वाले लोकसभा चुनाव में प्रत्याशी राष्ट्रवाद को उभारने और लोकप्रियता हासिल करने के लिए चीन का डर दिखाएंगे तो यह खतरनाक होगा.
चीनी मीडिया ने चिढ़ाया- बायकॉट कर लो लेकिन सामान हमारा ही लोगे
5/5
रिपोर्ट के मुताबिक यह हथकंडा देश की अर्थव्यवस्था, मैन्युफैक्चरिंग या लोगों के जीवनस्तर को नहीं सुधार पाएगा. अखबार ने भारतीय नेताओं को ट्विटर पर नारे लगाने की बजाय देश को मजबूत करने की सलाह दी है.   
Advertisement
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay