एडवांस्ड सर्च

Advertisement

US की सख्‍ती के बाद दिख रही चीन की लाचारी, भारत से मांगी मदद

aajtak.in
08 October 2019
US की सख्‍ती के बाद दिख रही चीन की लाचारी, भारत से मांगी मदद
1/7
आर्थिक मोर्चे पर अमेरिका और चीन आपस में उलझे हुए हैं. इस बीच, हाल ही में अमेरिका ने दुनिया के प्रमुख देशों से कहा है कि वे चीन की टेलिकॉम कंपनी हुवावेई को अपने 5जी मोबाइल नेटवर्क के लिए अनुमति नहीं दें. अमेरिका की इस सख्‍ती के बाद चीन लाचार नजर आ रहा है और उसे अब भारत से उम्‍मीद है.
US की सख्‍ती के बाद दिख रही चीन की लाचारी, भारत से मांगी मदद
2/7
दरअसल,  चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग भारत दौरे पर आने वाले हैं. इससे पहले भारत में चीन के राजदूत सन वीदोंग ने उम्मीद जताई कि उनकी कंपनियों को यहां ‘निष्पक्ष, मित्रवत और सुविधाजनक’ कारोबारी माहौल मिलेगा.
US की सख्‍ती के बाद दिख रही चीन की लाचारी, भारत से मांगी मदद
3/7
उन्होंने कहा कि एशिया की दोनों ताकतों को व्यापार और निवेश बढ़ाने के लिए आपसी सहयोग को और मजबूत करना चाहिए.  राजदूत सन वीदोंग ने कहा,  '' भारत-चीन को अपना मुक्त व्यापार आगे बढ़ाना चाहिए. इसके अलावा व्यापार के ‘बाहरी माहौल’ में बढ़ती अनिश्चिता की मौजूदा स्थिति में संरक्षणवाद और एकतरफा कार्रवाई के खिलाफ मिलकर आवाज उठानी चाहिए. 
US की सख्‍ती के बाद दिख रही चीन की लाचारी, भारत से मांगी मदद
4/7
चीन के राजदूत सन वीदोंग ने भारत से आयात पर कहा कि हमने इसे बढ़ाने के लिए कई कदम उठाए हैं. कुछ भारतीय आयात पर शुल्कों को कम किया गया है. उन्होंने कहा कि पिछले पांच साल के दौरान भारत से चीन का आयात करीब 15 फीसदी बढ़ा है. चालू साल की पहली छमाही में चीन के साथ भारत का व्यापार घाटा सालाना आधार पर 13.5 फीसदी कम हुआ है. वहीं चीन को भारत का कृषि निर्यात पिछले साल की समान अवधि की तुलना में दोगुना हो गया है.
US की सख्‍ती के बाद दिख रही चीन की लाचारी, भारत से मांगी मदद
5/7
चीन के राजदूत का भारत से उम्‍मीद भरा यह बयान ऐसे समय आया है जब अमेरिका ने दुनिया के प्रमुख देशों से कहा है कि वे चीन की दूरसंचार क्षेत्र की दिग्गज कंपनी हुवावेई को अपने 5जी मोबाइल नेटवर्क के लिए अनुमति नहीं दें.
US की सख्‍ती के बाद दिख रही चीन की लाचारी, भारत से मांगी मदद
6/7
बता दें कि भारत 5जी मोबाइल नेटवर्क के लिए परीक्षण शुरू करने वाला है. भारत ने अभी इस बारे में कोई फैसला नहीं किया है कि वह हुवावेई को 5जी परीक्षण में शामिल होने की अनुमति देगा या नहीं.
US की सख्‍ती के बाद दिख रही चीन की लाचारी, भारत से मांगी मदद
7/7
वहीं अमेरिका पहले ही सुरक्षा चिंताओं को लेकर हुवावेई पर प्रतिबंध लगा चुका है. हुवावेई दुनिया की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी है. इसके साथ ही यह दुनिया में दूसरी सबसे बड़ी स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी है.
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay