एडवांस्ड सर्च

Advertisement

ITR: चेक करें फॉर्म 16 के ये फैक्‍ट, पकड़ी जाएगी कंपनी की गड़बड़ी

aajtak.in
12 July 2019
ITR: चेक करें फॉर्म 16 के ये फैक्‍ट, पकड़ी जाएगी कंपनी की गड़बड़ी
1/7
इनकम टैक्‍स रिटर्न  (आईटीआर या ITR) भरने की समय-सीमा नजदीक आ रही है. इस साल आप 31 जुलाई तक आयकर रिटर्न (ITR) फाइल कर सकते हैं. आईटीआर फाइल करते वक्‍त आपको कुछ डॉक्‍युमेंट की जरूरत पड़ेगी. इनमें सबसे अहम डॉक्‍युमेंट 'फॉर्म 16' होता है. 
ITR: चेक करें फॉर्म 16 के ये फैक्‍ट, पकड़ी जाएगी कंपनी की गड़बड़ी
2/7
दरअसल, यह फॉर्म हर कंपनी अपने कर्मचारियों को भेजती है. इस फॉर्म के जरिए कंपनी अपने कर्मचारी को बताती है कि आपकी सैलरी में जो टैक्स डिडक्टेड एट सोर्स (TDS) बनता था उसे काटने के बाद आयकर विभाग के पास जमा कर दिया गया है. इस फॉर्म में पैन नंबर, सैलरी का ब्रेक-अप, क्लेम किए गए डिडक्शन, कुल टैक्स योग्य इनकम और सैलरी से काटे गए टैक्स का ब्यौरा शामिल होता है.
ITR: चेक करें फॉर्म 16 के ये फैक्‍ट, पकड़ी जाएगी कंपनी की गड़बड़ी
3/7
इस फॉर्म में दी गई जानकारियां आपको आयकर रिटर्न फाइल करने में मदद करती हैं. हालांकि आयकर रिटर्न फाइल करने से पहले कंपनी द्वारा भेजे गए 'फॉर्म 16' को एक बार क्रॉस चेक जरूर करना चाहिए. यह देखना चाहिए कि कंपनी ने फॉर्म में जो जानकारियां दी हैं वह तथ्‍यात्‍मक रूप से सही हैं या नहीं.
ITR: चेक करें फॉर्म 16 के ये फैक्‍ट, पकड़ी जाएगी कंपनी की गड़बड़ी
4/7
चेक करें ये फैक्‍ट
सबसे पहले यह देखना चाहिए कि फॉर्म 16 में आपका जो पैन नंबर दर्ज है वो सही है या नहीं. फॉर्म में पैन नंबर गलत है तो आपकी सैलरी से काटा गया टैक्स आपके फॉर्म 26एएस में नहीं दिखेगा. यहां बता दें कि फॉर्म 26एएस में वे सभी टैक्स होते हैं जो कंपनी काटकर जमा करती है. अगर आपने कोई एडवांस टैक्स या सेल्फ एसेसमेंट टैक्स दिया है तो वे भी फॉर्म 26एएस में दर्ज होता है. 
ITR: चेक करें फॉर्म 16 के ये फैक्‍ट, पकड़ी जाएगी कंपनी की गड़बड़ी
5/7
फॉर्म 16 के दो पार्ट- ए और बी होते हैं. फॉर्म-16 के पार्ट 'ए' में आपका नाम, पता, कंपनी का टैन और पैन के अलावा काटकर सरकार को जमा किए गए टैक्स का तिमाही ब्योरा होता है. इस पार्ट से यह जानकारी मिलती है कि आपकी मासिक सैलरी से कितना टैक्स कटा. आप अपनी सैलरी स्लिप से इस ब्यौरे को क्रॉस-चेक कर सकते हैं. इस ब्यौरे को आप फॉर्म 26एएस के साथ मिलान कर सकते हैं.
ITR: चेक करें फॉर्म 16 के ये फैक्‍ट, पकड़ी जाएगी कंपनी की गड़बड़ी
6/7
इसी तरह फॉर्म 16 के पार्ट बी में आपको मिली इनकम का ब्योरा होता है. इनकम के ब्‍यौरे को भी एक बार क्रॉस चेक कर लेना चाहिए. इस साल से फॉर्म-16 के दोनों हिस्से TRACES के पोर्टल से डाउनलोड करने हैं. पहले फॉर्म-16 का सिर्फ पार्ट ए ही इस पोर्टल से डाउनलोड किया जाता था. ऐसे में अगर फॉर्म 16 के किसी भी हिस्‍से में कोई गड़बड़ी दिखती है तो यह बात तुरंत अपनी कंपनी को बतानी चाहिए.
ITR: चेक करें फॉर्म 16 के ये फैक्‍ट, पकड़ी जाएगी कंपनी की गड़बड़ी
7/7
इसके बाद उनसे संशोधित फॉर्म 16 देने के लिए कहना चाहिए. बता दें कि इस साल का फॉर्म 16 पहले के मुकाबले थोड़ा अलग है. दरअसल, इस बार के  'फॉर्म 16' में कई ऐसी जानकारियां दी गई हैं जो पहले के मुकाबले ज्‍यादा हैं.
Advertisement
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay