एडवांस्ड सर्च

लगातार पांच बजट पेश कर इस खास क्लब में शामिल हो जाएंगे वित्त मंत्री अरुण जेटली

आज का बजट पेश होने के बाद वह देश के कुछ उन चुनिंदा वित्त मंत्रियों की कतार में शामिल हो जाएंगे जिन्होंने लगातार पांच बजट पेश किए हैं.

Advertisement
aajtak.in [Edited by: दिनेश अग्रहरि]नई दिल्ली, 01 February 2018
लगातार पांच बजट पेश कर इस खास क्लब में शामिल हो जाएंगे वित्त मंत्री अरुण जेटली वित्त मंत्री अरुण जेटली

अरुण जेटली आज 2018-19 का बजट पेश कर रहे हैं. यह उनका लगातार पांचवां बजट है. इस तरह आज का बजट पेश होने के बाद वह देश के कुछ उन चुनिंदा वित्त मंत्रियों की कतार में शामिल हो जाएंगे जिन्होंने लगातार पांच बजट पेश किए हैं. जेटली के पहले सिर्फ मनमोहन सिंह, यशवंत सिन्हा, पी चिदम्बरम और मोरारजी देसाई ही वित्त मंत्री के रूप में लगातार पांच बजट पेश कर पाए हैं.

कांग्रेस नेता पी चिदम्बरम ने कुल नौ बजट पेश किए हैं, जिनमें आठ पूर्ण बजट शामिल हैं. उन्होंन यूपीए प्रथम सरकार के कार्यकाल में 2004 से 2008 तक लगातार पांच बजट पेश किए हैं. साल 2009 में प्रणब मुखर्जी ने अंतरिम बजट पेश किया था.

यशवंत सिन्हा ने 1998 से 2002 तक लगातार पांच बजट पेश किए हैं. अटल बिहारी वाजपेयी सरकार के दौरान वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा के कार्यकाल में ही बजट पेश करने का समय शाम 5 बजे की जगह सुबह 11 बजे कर दिया गया.

यशवंत सिन्हा से पहले मनमोहन सिंह ने लगातार पांच बजट पेश किया था. उनका 1991 का बजट ऐतिहा‍सिक था, जिसने आर्थिक उदारीकरण की नीति पेश कर भारत की दिशा बदल दी.

सबसे ज्यादा बार बजट पेश करने का रिकॉर्ड

सबसे ज्यादा बार बजट पेश करने का रिकॉर्ड मोरारजी देसाई के नाम है. उन्होंने 1959 से 1963 तक पांच पूर्ण बजट और एक अंतरिम बजट पेश किया. अपनी दूसरी पारी में इंदिरा गांधी सरकार में उन्होंने चार बजट पेश किए. वह साल 1977 में प्रधानमंत्री भी बने थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay