एडवांस्ड सर्च

आम बजट: राष्ट्रपति का भाषण और 5 संकेत

आम बजट से लोगों की उम्मीदें जुड़ी होती हैं. चाहे वे नौकरीपेशा हों या छोटे व्यापारी या फिर उद्योग जगत, हर किसी को बजट का बेसब्री से इंतजार होता है.

Advertisement
मृगांक शेखरनई दिल्ली, 24 February 2015
आम बजट: राष्ट्रपति का भाषण और 5 संकेत प्रणब मुखर्जी

आम बजट से लोगों की उम्मीदें जुड़ी होती हैं. चाहे वे नौकरीपेशा हों या छोटे व्यापारी या फिर उद्योग जगत, हर किसी को बजट का बेसब्री से इंतजार होता है. राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के भाषण पर गौर करने पर बजट की जो तस्वीर उभर कर आती दिखती है उसमें पांच खास बातों के संकेत मिलते हैं -

1. राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा, 'मेरी सरकार ने कर प्रणाली में व्यापक कार्यकुशलता तथा साम्य लाने के लिए अपने प्रयासों को तीव्र किया है. व्यय प्रबंधन में मितव्ययिता भी हमारी सरकार की उच्च प्राथमिकता है. माल एवं सेवाकर (GST) को लाने के लिए एक संविधान (संशोधन) विधेयक लाया गया है, जो अप्रत्यक्ष कर व्यवस्था को सरल बनाएगा, कर आधार को व्यापक बनाएगा जिससे कर नियमों का बेहतर अनुपालन होगा.'
बजट के लिए संकेत - उम्मीद है कि बजट प्रस्तावों में अरुण जेटली संसद में जीएसटी को लागू करने का खाका पेश करेंगे.

2. हाल के बरसों में महंगाई सरकार के लिए सबसे बड़ी चुनौती बन कर उभरी है. इस बारे में राष्ट्रपति ने कहा, 'मुद्रास्फीति को रोकने से लेकर अर्थव्यवस्था को उन्नत करना, नए विचारों को बढ़ावा देने से लेकर समावेशी विकास सुनिश्चित करना, सहकारी संघवाद को बढ़ावा देने से लेकर राज्यों में स्वस्थ प्रतिस्पर्धा की भावना पैदा करना, एक अच्छी शुरुआत हो चुकी है. उज्ज्वल भविष्य हमारी राह देख रहा है.'
बजट के लिए संकेत - ऐसे उपाय जिससे लोगों को बढ़ती महंगाई से कुछ राहत मिले. कम से कम रोजाना इस्तेमाल की जाने वाली चीजों में.

3. रोजगार क्षेत्र के विस्तार तथा कार्मिक कल्याण में सुधार के साथ श्रम संबंधी विनिमयों को लागू करने में पारदर्शिता एवं जवाबदेही को लेकर राष्ट्रपति ने कहा, 'उद्योग को ऑनलाइन पंजीकरण की सुविधा प्रदान करने और 16 अलग-अलग रिटर्न फाइल करने के बजाय एक ही ऑनलाइन रिटर्न फाइल की अनुमति प्रदान करके व्यवसाय को आसान बनाने के लिए श्रम सुविधा पोर्टल शुरू किया गया है. एक पारदर्शी ऑनलाइन निरीक्षण स्कीम शुरू की गई है.'
बजट के लिए संकेत - रोजगार के उपाय बढ़ सकते हैं. सरकारी प्रोत्साहन से युवाओं के उद्यमों की ओर आकर्षित हो सकते हैं.

4. राष्ट्रपति ने कहा, 'मेरी सरकार अपने सभी नागरिकों, विशेष रूप से कमजोर वर्गों को दक्षतापूर्ण और समतापूर्ण वहनीय एवं सुलभ स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए कृत-संकल्प है.'
बजट के लिए संकेत - दवाओं और तमाम महंगी मेडिकल सुविधाओं में राहत मिलने की उम्मीद की जा सकती है.

5. राष्ट्रपति ने कहा, 'मेरी सरकार हमारी स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूरे होने पर मिशन 'हाउसिंग फॉर ऑल' के अंतर्गत 2022 तक सभी परिवारों, विशेष रूप से अत्यधिक गरीब परिवारों की आवास की आकांक्षा को पूरा करने के लिए अडिग है." मुखर्जी ने आगे कहा, "आवास क्षेत्र में निवेश को सहयोग देने हेतु मेरी सरकार ने विदेशी प्रत्यक्ष निवेश नीति को उदार बनाया है, आवास ऋणों के लिए कर संबंधी प्रोत्साहनों में बढ़ोतरी की है और नेशनल हाउसिंग बैंक की मूल निधि में वृद्धि की है.'
बजट के लिए संकेत - होम लोन में रियायत की उम्मीद की जा सकती है. सरकार हाउसिंग स्कीम भी ला सकती है.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay