एडवांस्ड सर्च

रेल बजट से पूर्व भी राज्यों के साथ विचार विमर्श किया जाये: गहलोत

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से उद्योग मंत्री राजेंद्र पारीक ने सुझाव दिया है कि केंद्रीय बजट पूर्व राज्यों के वित्त मंत्रियों की बैठक की तर्ज पर रेल बजट से पूर्व भी राज्यों के साथ विचार विमर्श किया जाना चाहिये.

Advertisement
भाषाजयपुर, 24 February 2011
रेल बजट से पूर्व भी राज्यों के साथ विचार विमर्श किया जाये: गहलोत

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से उद्योग मंत्री राजेंद्र पारीक ने सुझाव दिया है कि केंद्रीय बजट पूर्व राज्यों के वित्त मंत्रियों की बैठक की तर्ज पर रेल बजट से पूर्व भी राज्यों के साथ विचार विमर्श किया जाना चाहिये.

गहलोत ने केंद्रीय वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी द्वारा गत तीन वर्षों से केंद्रीय बजट से पूर्व राज्यों के वित्त मंत्रियों के साथ विचार विमर्श कर उनके सुझाव लेने की परम्परा शुरू करने के लिये केंद्र को बधाई दी.

पारीक ने बताया कि दक्षिणी राजस्थान के आदिवासी अंचल बांसवाडा में निजी क्षेत्र में 1320 मेगावाट क्षमता के दो थर्मल पावर स्टेशन की वर्ष 2014 तक स्थापना की जानी है और इसमें कोयले की आपूर्ति पहुंचाने के लिये रेल लाइन ले जाना अत्यंत जरूरी है. राज्य सरकार ने रतलाम से डूंगरपुर वाया बांसवाडा ब्रॉडगेज रेल लाइन बिछाने के लिये भूमि और परियोजना के खर्च में अंशदान देना मंजूर किया है.

उन्होंने बताया कि इस रेल परियोजना के समय पर शुरू होने से दक्षिण राजस्थान के पिछडे सम्पूर्ण आदिवासी क्षेत्र के सर्वागीण विकास को गति मिलेगी. वहीं प्रदेश की इस महत्वाकांक्षी विद्युत परियोजना से भी समय पर बिजली उत्पादन संभव हो सकेगा.

गौरतलब है कि राजस्थान में आदिवासी बहुल बांसवाडा ही एक मात्र ऐसा जिला है, जिसके किसी कोने से वत्र्तमान में रेल नहीं गुजरती है. इस रेल लाइन के शुरू होने से प्रदेश के दक्षिणांचल के बांसवाडा-डूंगरपुर जिले का सर्वागीण आर्थिक विकास होने के साथ ही पर्यटन विकास को भी बल मिलेगा.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay