एडवांस्ड सर्च

Advertisement

निर्यात को पटरी पर लाना जरूरी: प्रेमजी

विप्रो टेक्‍नोलॉजीज के चेयरमैन अजीम एच. प्रेमजी देश की अर्थव्‍यवस्‍था में मजबूती लौटने के प्रति आशावान नजर आते हैं. उनका मानना है कि अन्‍य देशों की तुलना में भारत मौजूदा मंदी से तेजी से उबरेगा.
निर्यात को पटरी पर लाना जरूरी: प्रेमजी
इंडिया टुडे/ आज तक ब्‍यूरो 30 June 2009

विप्रो टेक्‍नोलॉजीज के चेयरमैन अजीम एच. प्रेमजी देश की अर्थव्‍यवस्‍था में मजबूती लौटने के प्रति आशावान नजर आते हैं. उनका मानना है कि अन्‍य देशों की तुलना में भारत मौजूदा मंदी से तेजी से उबरेगा.

बदतर समय पीछे छूट गया
यह सवाल किए जाने पर कि क्या बाजार में तेजी और 'फीलगुड' का उभरता हल्का एहसास वास्तविक है या महज मरीचिका, उन्‍होंने कहा कि हम यह मानते हैं कि बदतर समय हमारे पीछे छूट गया है लेकिन अभी हम बेहतरी के आसपास कहीं नहीं पहुंचे हैं. दशकों की समस्याओं को कुछ तिमाहियों में दूर नहीं किया जा सकता. साथ ही उन्‍होंने माना कि भारत के लिए बदतर समय बीत चुका है.

भारत बुनियादी तौर पर सशक्त
यह पूछे जाने पर कि क्या भारतीय अर्थव्यवस्था के पुनरुद्धार को वैश्विक मंदी की भयावहता से अलग किया जा सकता है, उन्‍होंने कहा कि भारत अब वैश्विक अर्थव्यवस्था से अच्छी तरह जुड़ गया है. इसलिए उसे जुदा करने का सवाल ही नहीं उठता. बहरहाल, भारत बुनियादी तौर पर सशक्त है, इसलिए हम दूसरों की बनिस्बत संकट से तेजी से उबरेंगे.

औद्योगिक उत्‍पादन में बढ़ोत्तरी जरूरी
उनका मानना है कि वैश्विक अर्थव्यवस्था के साथ संबंधों को देखते हुए कोई समय सीमा निर्धारित करना मुश्किल है कि मंदी का दौर कब खत्‍म होगा. घरेलू अर्थव्यवस्था में औद्योगिक उत्पादन और निर्यात को पटरी पर वापस लाना जरूरी है. उन्‍होंने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं कि कृषि उत्पादन एक प्रमुख कारक होगा.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay