एडवांस्ड सर्च

Advertisement

'बेटों को लॉन्‍च करने में लगे हैं लालू-पासवान'

प्रदेश में सत्तासीन भाजपा ने बिहार विधानसभा चुनाव 2010 में राजद-लोजपा गठबंधन का सफाया हो जाने का दावा करते हुए कहा है कि इस हकीकत से राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद और लोजपा सुप्रीमो रामविलास पासवान भी वाकिफ हैं इसलिए वे इस चुनाव के जरिए अपने बेटे को राजनीति के क्षेत्र में लांच करने में लगे हैं.
'बेटों को लॉन्‍च करने में लगे हैं लालू-पासवान'
भाषापटना, 26 January 2011

प्रदेश में सत्तासीन भाजपा ने बिहार विधानसभा चुनाव 2010 में राजद-लोजपा गठबंधन का सफाया हो जाने का दावा करते हुए कहा है कि इस हकीकत से राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद और लोजपा सुप्रीमो रामविलास पासवान भी वाकिफ हैं इसलिए वे इस चुनाव के जरिए अपने बेटे को राजनीति के क्षेत्र में लांच करने में लगे हैं.

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव प्रताप रूडी और सैयद शहनवाज हुसैन ने बुधवार को संयुक्त रूप से संवाददाताओं को संबोधित करते हुए बिहार विधानसभा चुनाव 2010 में राजद-लोजपा गठबंधन का सफाया हो जाने का दावा करते हुए कहा है कि इस हकीकत से राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद और लोजपा सुप्रीमो रामविलास पासवान भी वाकिफ हैं इसलिए वे इस चुनाव के जरिए अपने पुत्रों को राजनीति के क्षेत्र में लांच करने में लगे हैं.

रूडी ने लालू एवं पासवान की इसबार के चुनाव में स्थिति एक निर्दलीय विधायक की बताते हुए कहा कि वे अपने बेटे के साथ जहां भी जा रहे हैं, लोगों से यही कहते फिर रहे हैं हम यह जानते हैं कि यहां हमारा वोट नहीं है पर आगे का ख्याल रखियेगा. उन्होंने कहा कि जहां तक कांग्रेस पार्टी की बात है तो इस चुनाव में उसकी स्थिति नगण्य है और हताशा में राजग के राष्ट्रीय संयोजक शरद यादव सहित अन्य के खिलाफ झूठा आरोप लगाकर चुनावी मैदान की जगह कागजी लड़ाई में ज्यादा लगी है.

रूडी ने कांग्रेस पर बिहार का अपमान करने का आरोप लगाते हुए कहा कि बिहार के इतिहास में ऐसा कभी नहीं हुआ कि केंद्रीय मंत्रिमंडल में इस प्रदेश का एक भी मंत्री नहीं रहा हो. राजीव प्रताप रूडी ने कहा कि बिहार के हितों और इसके विकास की बात करने वाली कांग्रेस पार्टी को अपने दल में इस प्रदेश का कोई ऐसा लायक नेता नहीं दिखा जिसे वे केंद्रीय मंत्रिमंडल में स्थान देकर इस राज्य का प्रतिनिधित्व सुनिश्चित कर सकती.

लोजपा सुप्रीमो रामविलास पासवान द्वारा भाजपा को ‘पाप’ बताए जाने और पार्टी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी को लेकर की गयी टिप्पणी पर रूडी ने कहा कि पासवान को बिहार की जनता को बताना चाहिए कि अगर भाजपा से उन्हें इतना ही परहेज था तो वे किस परिस्थिति में राजग की पिछली केंद्र सरकार में मंत्री बने थे.

इस बार के विधानसभा चुनाव में पीरपैंती विधानसभा क्षेत्र में आयोजित अपनी 101वीं चुनावी सभा में भाग लेकर आज पटना लौटे हुसैन ने कहा कि वे जहां भी गए सभी जगह राजग के पक्ष में लहर देखी और खासतौर से भागलपुर एवं बांका जिले के मतदाता राजद के द्वारा दिवंगत सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री दिग्विजय सिंह की पत्नी के खिलाफ उम्मीदवार खड़ा किए जाने से काफी नाराज हैं और इस बार बांका में उक्त पार्टी का खाता भी नहीं खुल पाएगा.

हुसैन ने इस बार के चुनाव में अल्पसंख्यकों का भी राजग के प्रति रुझान होने का दावा किया और विपक्षी दलों पर अकलित समुदाय को भयभीत कर अब तक राजग से दूर रखने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि प्रदेश की वर्तमान राजग सरकार ने अकलियतों के भले के लिए जिस प्रकार से बड़े पैमाने पर काम किया है उसके कारण इस समुदाय के लोगों की राजग के प्रति आस्था बढ़ी है और वह इस चुनाव के परिणाम के तौर पर परिलक्षित होगा.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay