एडवांस्ड सर्च

एक्जिट पोल सर्वे को लेकर लालू ने टीवी चैनलों की खिंचाई की

बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर विभिन्न टीवी चैनलों के गत 20 नवंबर को प्रसारित एक्जिट पोल को लेकर लालू प्रसाद ने चैनलों की खिंचाई की.

Advertisement
भाषापटना, 26 January 2011
एक्जिट पोल सर्वे को लेकर लालू ने टीवी चैनलों की खिंचाई की

बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर विभिन्न टीवी चैनलों के गत 20 नवंबर को प्रसारित एक्जिट पोल सर्वेक्षण जिसमें प्रदेश में सत्तासीन राजग को इस चुनाव में सबसे अधिक सीटें हासिल होने की बात कही गयी थी राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने चैनलों की खिंचाई करते हुए कहा कि इसके लिए वे न तो गांधीगीरी करेंगे और न ही शिव सेना जैसा व्यवहार करेंगे.

राजद सुप्रीमों ने बिहार विधानसभा के छठे एवं अंतिम चरण के मतदान के संपन्न होने पर गत 20 नवंबर को कुछ टीवी चैनलों द्वारा प्रसारित एक्जिट पोल सर्वेक्षण जिसमें प्रदेश में सत्तासीन राजग को इस चुनाव में सबसे अधिक सीटें हासिल होने की बात कही गयी थी पर चैनलों की खिंचाई करते हुए कहा ‘बिहार का विकास नहीं हुआ पर देश स्तर पर मीडिया का नाश हो गया’.

जब उनसे पूछा गया इस तरह के सर्वेक्षण को लेकर आगे की उनकी क्या रणनीति है उन्होंने कहा कि कि वे ‘शिव सेना’ नहीं हैं. लालू ने बेहतर ढंग से चुनाव संपन्न कराए जाने के लिए चुनाव आयोग, मीडिया, केंद्रीय अर्धसैनिक बलों को धन्यवाद दिया पर प्रदेश और दिल्ली के कुछ मडियाकर्मियों पर राज्यसभा की सीट पाने की लालच में नीतीश कुमार और उनके गठबंधन को टिकट बांटे जाने से पूर्व ही जीत का प्रमाण पत्र दे दिए जाने का आरोप लगाया.

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद ने बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान कुछ मीडियाकर्मियों पर प्रदेश के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की मदद के लिए एक दल की तरह व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए कहा कि ऐसे मीडियाकर्मियों में उनके गृह जिला गोपालगंज से भी एक व्यक्ति शामिल हैं जो कि हमारी आदत को लेकर भी लिखा था.

लालू ने कहा कि ‘जैसे को तैसा’ में विश्वास नहीं रखते बल्कि जब भी मीडिया ने उन्हें निशाना बनाया है उन्होंने विनम्रता के साथ उसे स्वीकार किया है. उन्होंने कहा कि मीडिया में कुछ लोग ऐसे हैं कि वे अगर गंगा नदी में खड़े होकर भी कुछ कहेंगे तो ऐसे मीडियाकर्मी उनकी बात पर विश्वास नहीं करेंगे.

राजद सुप्रीमों ने कहा कि उन्हें आपातकाल के समय और करोडों रुपये के चारा घोटाला के झूठे मामले में फंसाकर उन्हें जेल भेजा गया था और न ही प्रतिक्रिया के तौर पर उन्होंने कुछ भी किया लेकिन प्रदेश के लोगों खासतौर से गरीब लोगों का उन्हें हमेशा समर्थन मिलता रहा और अपने लंबे राजनीतिक अनुभव के आधार पर अभी भी इस बात पर कायम है कि उनके गठबंधन राजद-लोजपा को इस चुनाव में दो-तिहाई बहुमत हासिल होने जा रहा है.

राजद-लोजपा को पूर्ण बहुमत नहीं हासिल होने पर कांग्रेस से समर्थन को लेकर पूछे गए एक प्रश्न के उत्तर में लालू ने अपने गठबंधन के पूर्ण बहुमत मिलने की बात कही और कहा इसकी जरूरत नहीं पडेगी. लालू ने कुछ टीवी चैनलों पर जारी किए गए एक्जिट पोल सर्वेक्षण के जरिए आगामी 24 नवंबर को होने वाले मतगणना कार्य में लोगों को भी प्रभावित करने का आरोप लगाया.

राजद सुप्रीमों ने कहा कि बिहार विधानसभा की 18 सीटों के लिए पूर्व में हुए उपचुनाव में भी प्रदेश के लोगों ने राजद-लोजपा के पक्ष बढ़-चढ़कर मतदान किया था और इसबार भी प्रदेश की वर्तमान सरकार की गलत नीतियों जिसमें गांव-गांव शराब की दुकाने खोले जाने तथा जनवितरण प्रणाली के विफल होना आदि शामिल हैं के कारण लोगों ने उनके गठबंधन के पक्ष में बढ़-चढ़कर मतदान किया.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay