एडवांस्ड सर्च

नांदेड लोकसभा सीट: 19 में से 15 चुनाव कांग्रेस जीती, मोदी लहर भी बेअसर

इस सीट से अभी कांग्रेस के दिग्गज नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण सांसद हैं. 2014 के चुनाव में मोदी लहर होने के बावजूद इस सीट से जीत हासिल की थी. उन्होंने बीजेपी के दिगंबर बापूजी पाटिल को चुनाव हराया था.

Advertisement
aajtak.in
आदित्य बिड़वई नई दिल्ली, 02 March 2019
नांदेड लोकसभा सीट: 19 में से 15 चुनाव कांग्रेस जीती, मोदी लहर भी बेअसर नांदेड लोकसभा सीट.

नांदेड लोकसभा सीट कांग्रेस का गढ़ है. इस सीट पर अब तक 19 बार चुनाव हुए हैं. इनमें से 15 बार कांग्रेस जीती है. यही वजह है कि हाल ही में यह खबर उड़ी थी कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी यहां से चुनाव लड़ेंगे. हालांकि, अब तक इसकी कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है.

इस सीट से अभी कांग्रेस के दिग्गज नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण सांसद हैं. 2014 के चुनाव में मोदी लहर होने के बावजूद इस सीट से जीत हासिल की थी. उन्होंने बीजेपी के दिगंबर बापूजी पाटिल को चुनाव हराया था.

वहीं, 2009 के चुनाव में भी यहां कांग्रेस जीती थी. भास्करराव खटगांवकर सांसद बने थे. उन्होंने बीजेपी के संभाजी पवार को चुनाव हराया था.  

क्या रहा है इस सीट का इतिहास...

नांदेड लोकसभा सीट पर पहला लोकसभा चुनाव 1952 में हुआ. यहां से दो सांसद चुने गए शंकरराव तेलकीकर और देवराव कांबले, फिर 1957 में दोबारा देवराव कांबले कांग्रेस से सांसद चुने गए और शेड्यूल कास्ट फेडरेशन से हरिराव सोनुले चुनाव जीते. फिर 1962 में कांग्रेस के तुलसीदास जाधव और 1967 और 1971 में वेंकटराव तारोडेकर जीते, 1977 में डॉ. केशवराव धोंगड़े जनता पार्टी से चुने गए.  

1980 और 1984 में अशोक चव्हाण के पिता शंकरराव चव्हाण जीते, जो केंद्र में मंत्री भी रहे. फिर 1987 के उप चुनाव में अशोक चव्हाण पहली बार इस सीट से चुनाव जीत कर संसद पहुंचे थे. हालांकि, उसके बाद लंबे समय तक अशोक चव्हाण दिल्ली की राजनीति छोड़ महाराष्ट्र की राजनीति में व्यस्त रहे और मुख्यमंत्री तक बने.

1989 में जनता दल से डॉ. वेंकटेश कबडे जीते. 1991 में कांग्रेस दोबारा आई. सूर्यकांत पाटिल सांसद बने. 1996 में गंगाधर देशमुख , 1998 और 1999 में भास्करराव बापूराव खटगांवकर जीते. 2004 में दिगंबर बापूजी पाटिल बीजेपी की टिकट पर जीते. 2009 में भास्करराव बापुराव खटगांवकर तीसरी बार सांसद बने. फिर 2014 के लोकसभा चुनाव में अशोक चव्हाण सांसद बने.  

क्या है विधानसभा क्षेत्रों की स्थिति...

नांदेड़ लोकसभा सीट के अंतर्गत 6 विधानसभा सीट आती है. इनमें भोकर, नांदेड, नायगांव में कांग्रेस का कब्जा है. जबकि देगलूर, नांदेड दक्षिण में शिवसेना और मुखेड में बीजेपी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay