एडवांस्ड सर्च

Advertisement
Assembly Elections 2017

मोदी से शुरू...मोदी पर खत्म, पढ़ें- प्रियंका का रायबरेली में दिया भाषण

मोदी से शुरू...मोदी पर खत्म, पढ़ें- प्रियंका का रायबरेली में दिया भाषण
aajtak.in [Edited By: अमित दुबे]रायबरेली, 18 February 2017

यहां आने से पहले मेरा बेटा बीमार था, मैं सुबह उसके लिए दवा लेकर जा रही थी तो टीवी चल रहा था, मैंने सुना कि कोई बहुत निंदा कर रहा है उत्तर प्रदेश की. मैंने कहा कि भाई मैं भी सुनूं क्या कहा जा रहा है. तो कोई कह रहा था कि इस प्रदेश में बहुत अराजकता है, करप्शन है, शोषण है, महिलाओं पर अत्य़ाचार है, दलितों पर अत्याचार है तो मैंने देखा कि कौन बोल रहा है तो वही दृश्य सामने आया जो आपके सामने आजकल अक्सर आता है.

एक भरे मैदान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी बोल रहे थे और इसके कहने के एकदम बाद उऩ्होंने कहा कि मुझे वाराणसी के लोगों ने गोद लिया है और वाराणसी के लिए मैं एक बेटा हूं, यूपी का बेटा हूं इसलिए मैं अपने प्रदेश का विकास करूंगा तो मेरे मन में बात आई कि क्या उत्तर प्रदेश को बाहर से किसी को गोद लेने की जरूरत है. क्या यहां कोई नौजवान नहीं है जो अपने प्रदेश को आगे बढ़ा सके, विकास ला सके. आपके दो नौजवान हैं राहुल जी और अखिलेश जी जो आज आपके सामने आए हैं. वो इसी मिट्टी के पले-बढ़े हैं. उन्होंने आपका प्रतिनिधित्व किया है. उनके दिल में उत्तर प्रदेश है, उनकी जान में उत्तर प्रदेश है.

यूपी को किसी बाहरी नेता की जरूरत नहीं है. यहां का एक-एक नौजवान नेता बन सकता है. यहां का एक-एक नौजवान इस प्रदेश का नया निर्माण करेगा, नया विकास करेगा, नया उत्थान करेगा ये मेरी आशा है, यही राहुल जी की आशा है. आप सब इकट्ठा काम करें गठबंधन को आगे बढ़ाएं, जिताएं.

जब भी पीएम आपका जिक्र करते हैं तो कभी किसी की बहन, किसी की मां, किसी की बेटी का जिक्र करते हैं, क्यों? मैं आप सबकी तरफ से कहना चाहती हूं, इस देश की करोड़ों महिलाओं की ओर से कहना चाहती हूं कि मैं औरत हूं, हम औरत हैं, हमेशा रिश्ते के साथ हमको जोड़ने की जरूरत नहीं. आंख में आंख मिलाकर बात करें, आप पर अत्याचार बंद करना चाहते हैं तो बताएं कि पिछले छह महीने में किसने सबसे ज्यादा अत्याचार किया है हमारी बेटियों, बहनों... महिलाओं पर जब उन्होंने यूं ताली बजाकर नोटंबदी की और आपकी बचत को इस तरह फिंकवाया जैसे कागज के टुकड़े फिंकवाए जाते हैं, जब महिलाओं को लाइन में खड़ा किया गया तो क्या वो अत्याचार नहीं था महिलाओं के लिए.

आप झोली फैलाकर किसके सामने जाएंगी, जो आपने सालों से बचत की थी क्यों किया ये सब, उस समय हमदर्दी नहीं थी, बहुत खोखले वादे हो गए, बहुत सुन लिया है इस देश ने, इस प्रदेश ने, बहुत बातें हो गईं. आप तीन साल से सत्ता में हैं वाराणसी से पूछिए वहां का जनजन बताएगा क्या किया है आपने उनके लिए. जब राजीव गांधी प्रधानमंत्री थे अमेठी का क्या विकास हुआ था, अमेठी के जनजन से पूछिए, वो आपको बताएगा कि जब आप पीएम होते हैं तो किस तरह से विकास कर सकते हैं.

तो मैं आपसे यही आग्रह करूंगी कि जो झूठ बोलता है, खोखले वादे करता है, उसे पहचानिए, जो आपके लिए काम करना चाहता है उसको पहचानिए और इस गठबंधन को इस तरह मजबूत बनाइए कि आगे बढ़कर प्रदेश मजबूत बने, एकएक जना मजबूत बने.

धन्यवाद

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay