एडवांस्ड सर्च

भारत-PAK रिश्ते पर बोले आजम खान- जंग किसी मसले का हल नहीं

आजम खान ने कहा, 'हिंदुस्तान महान था, पाकिस्तान भी इसका हिस्सा था, बांग्लादेश भी इसका हिस्सा था. ये एक खून हैं, एक नस्ल है, एक मिजाज है, सोचने का अंदाज एक है, फिर भाइयों में इतना बंटवारा क्यों है, इतना भाई से भाई नाराज क्यों हैं?

Advertisement
aajtak.in
अंजलि कर्मकार/ खुशदीप सहगल रामपुर, 03 October 2016
 भारत-PAK रिश्ते पर बोले आजम खान- जंग किसी मसले का हल नहीं आजम खान

भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़ते तनाव को लेकर उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री आजम खान का कहना है कि दोनों मुल्कों के बीच इतनी नाराजगी क्यों है, बात इस पर की जानी चाहिए. जंग किसी भी मसले का हल नहीं होता. आजम खान रामपुर के सदर अस्पताल में आयुष केंद्र के उद्घाटन कार्यक्रम में बोल रहे थे.

आजम खान ने कहा, 'हिंदुस्तान महान था, पाकिस्तान भी इसका हिस्सा था, बांग्लादेश भी इसका हिस्सा था. ये एक खून हैं, एक नस्ल है, एक मिजाज है, सोचने का अंदाज एक है, फिर भाइयों में इतना बंटवारा क्यों है, इतना भाई से भाई नाराज क्यों हैं? इस पर कभी बात नहीं हुई. इस पर बात की शुरुआत होनी थी.' आजम खान ने ये भी कहा कि उनकी बात को अन्यथा ना लिया जाए.

यूपी के कैबिनेट मंत्री ने कहा, 'किसी भी जंग का फैसला मैदान-ए-जंग में नहीं होता. दुनिया ने पहले और दूसरे विश्व युद्ध देखा. कोई समझौता मैदान-ए-जंग में नहीं हुआ. कौन हारा, कौन जीता, ये अलग बात है. तीसरी जंग भी होती है तो उसका फैसला भी मैदान-ए-जंग से नहीं निकलेगा. किसी बंद कमरे में गोलमेज पर बैठ कर कुछ लोग आगे की शांति का प्लान तैयार करेंगे.'

आजम खान ने सवाल किया कि जिस हिटलर ने यहूदी नस्ल को मिटा देने की कसम खाई थी, क्या ऐसा हो सका? उन्होंने कहा, 'अमेरिका आज दुनिया की सबसे ताकतवर कौम है. दुनिया के नक्शे पर बिंदी से भी छोटा है इस्राइल, लेकिन आज अमेरिका की पॉलिसी को चलाता है, पूरी दुनिया की इकोनॉमी पॉलिसी वहां से ड्राफ्ट होती है. तरक्की की तमाम स्कीम, साइंस का विकास इस्राइल से निकलता है.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay