एडवांस्ड सर्च

Manipur Election Result: कांग्रेस के गढ़ में बीजेपी की सेंध

पूर्वोत्तर के राज्य मणिपुर में पिछ्ले 12 सालों से कांग्रेस कायम है. इस राज्य को पार्टी का एक गढ़ माना जाता है. हालकि आज जो चुनाव परिणाम आ रहे हैं उससे जो सबसे बड़ी बात साफ हो रही है वो यह कि मणिपुर में बीजेपी ने मजबूत द्स्तक दी है.

Advertisement
aajtak.in [Edited By: विकास कुमार]नई दिल्ली, 11 March 2017
Manipur Election Result: कांग्रेस के गढ़ में बीजेपी की सेंध कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और मणिपुर के मुख्यमंत्री इबोबी सिंह

Manipur Assembly Elections Result 2017: पूर्वोत्तर के राज्य मणिपुर में पिछ्ले 12 सालों से कांग्रेस कायम है. इस राज्य को पार्टी का एक गढ़ माना जाता है. हालकि आज जो चुनाव परिणाम आ रहे हैं उससे जो सबसे बड़ी बात साफ हो रही है वो यह कि मणिपुर में BJP ने मजबूत द्स्तक दी है.

मणिपुर में 60 विधानसभा सीटे हैं. खबर लिखे जाने तक राज्य के 48 सीटों का रुझान आ चुके हैं. इन रुझानों के मुताबिक BJP ( 21 सीट ), Congress (18 सीट) से आगे चल रही है.

अगर ये रुझान आखरी जीत में बदलते हैं तो मणिपुर में भी भाजापा सत्ता में आने की कोशिश कर सकती है और कांग्रेस को अपने ही घर में सत्ता से बाहर जाना पड़ सकता है.

हालांकि कांग्रेस के नेता और राज्य के मुख्यमंत्री ओकराम इबोबी थउबल विधानसभा सीट से चुनाव जीत गए हैं.

आयरन लेडी हार गईं अपना चुनाव
सशस्त्र बल विशेषाधिकार अधिनियम (आफस्पा) कानून के खिलाफ लगभग सोलह वर्षों तक भूख हड़तला पर बैठने वाली इरोम शर्मिला भी इस चुनाव में एक उम्मीदवार थीं. इरोम मुख्यमंत्री ओकराम इबोबी के खिलाफ मैदान में खड़ी थीं.

अक्टूबर, 2016 में इरोम चानू शर्मिला ने पीपल्स रीसर्जेंस एंड जस्टिस एलांयस (पीआरजेए) का गठन किया और मार्च में होने वाले विधानसभा चुनाव लड़ने का फैसला किया है जिसका एक मात्र एजेंडा मणिपुर से अफस्पा को हटाना है.

यहां यह बताते चलें कि अभी तक मणिपुर का फाइनल रिजल्ट नहीं आया है. लेकिन जो संकेत दिख रहे हैं वो इस बात की तरफ साफ इशारा कर रहे हैं कि मणिपुर में केसरिया लोगों को पसंद आ आ रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay