एडवांस्ड सर्च

Advertisement

CM वीरभद्र के घर शादी के दिन CBI रेड, ये कोई इत्तेफाक नहीं: पायलट

राज्य में किसानों की बदहाल हालत के बावजूद केंद्र सरकार ने उसे किसानों का कर्ज माफ करने में मदद नहीं की. मोदी सरकार ने महज इसलिए ऐसा किया जिससे चुनावों से ठीक पहले वह किसान कर्जमाफी का ऐलान कर राजनीतिक फायदा उठा सके.
CM वीरभद्र के घर शादी के दिन CBI रेड, ये कोई इत्तेफाक नहीं: पायलट युवाओं को मौका देने में कांग्रेस अव्वल
राहुल मिश्रशिमला, 03 November 2017

आजतक पंचायत हिमाचल प्रदेश के तीसरे सत्र में कांग्रेस नेता और सांसद सचिन पायलट ने शिरकत की. इस सत्र का संचालन पुण्य प्रसून वाजपेयी ने किया. इस मौके पर सचिन पायलट ने कहा कि देश में मोदी सरकार ने किसानों के मुद्दे पर भेदभाव की राजनीति की है. राज्य में किसानों की बदहाल हालत के बावजूद केंद्र सरकार ने उसे किसानों का कर्ज माफ करने में मदद नहीं की. मोदी सरकार ने महज इसलिए ऐसा किया जिससे चुनावों से ठीक पहले वह किसान कर्जमाफी का ऐलान कर राजनीतिक फायदा उठा सके.

सचिन पायलट के कहा कि मोदी सरकार के कार्यकाल में विपक्ष पर निशाना साधने का काम किया जा रहा है. इसके चलते केन्द्र सरकार कांग्रेस की सरकार वाले राज्यों में विकास से मुंह मोड़ रही है. केन्द्र सरकार ने जान बूझकर कांग्रेस के राज्यों में किसानों के कर्ज की माफी का कदम नहीं उठाया. पायलट ने कहा कि मोदी सरकार ने राजस्थान में किसानों की कर्ज माफी का ऐलान नहीं किया ताकि चुनावों से पहले ऐसा कर वो राजनीतिक लाभ उठा सके.

नौकरी नहीं ला पाई मोदी सरकार

सचिन पायलट ने कहा कि मोदी सरकार अर्थव्यवस्था को मजबूत करने में पूरी तरह से विफल रही है. उसकी नीतियों से देश में न तो रोजगार के संसाधन पैदा हुए और न ही ग्रोथ रेट में कोई इजाफा हुआ.

इसे भी पढ़ें: पंचायत आजतक: हिमाचल चुनाव में लड़ाई बीजेपी बनाम वीरभद्र

सीबीआई का गलत इस्तेमाल

पायलट ने कहा कि किसी मुख्यमंत्री के घर पर सीबीआई का छापा उस दिन मारा जाए जिस दिन उनके घर में बेटी की शादी हो और सरकार को पता न हो यह कैसे संभव है. अब सरकार कह रही है उसे शादी की कोई सूचना नहीं थी. यह महज बीजेपी सरकार की साजिश है जिससे वह राजनीतिक लाभ उठाने की कोशिश कर रही है.

भ्रष्टाचार पर डबल स्टैंडर्ड

पायलट ने कहा कि भ्रष्टाचार के मुद्दे पर भी बीजेपी दोहरा मापदंड अपना रही है. बीजेपी नेताओं के भ्रष्टाचार को पूरी तरह से नजरअंदाज किया है. बीजेपी के मुख्यमंत्रियों को भ्रष्टाचार के मामलों में बिना जांच कराए क्लीनचिट देने का काम किया जा रहा है.

इसी साल होगी राहुल की ताजपोशी

कांग्रेस में बदलाव हो रहा है. एक बार संगठन का चुनाव पूरा हो जाए तो पार्टी में और बड़े बदलाव देखने को मिलेंगे. पायलट के मुताबिक इस साल के अंत तक पार्टी में आंतरिक चुनाव की प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी और पार्टी को नया अध्यक्ष मिल जाएगा. हालांकि पार्टी में अपनी भूमिका पर बोलते हुए पायलट ने कहा कि फिलहाल उन्हें किसी पद की कोई लालसा नहीं है और वह पूरी तरहसे जमीन से जुड़े हैं जिससे पार्टी को लगातार फायदा मिलता रहे.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay