एडवांस्ड सर्च

हिमाचल Exit Poll: BJP की एकतरफा जीत का अनुमान, मिल सकती हैं 47 से 55 सीटें

11 नवंबर को हिमाचल में वोट डाले गए थे. अभी तक प्रदेश का इतिहास रहा है कि यहां कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही पार्टियां बारी-बारी से राज करती रही हैं.

Advertisement
aajtak.in
राहुल विश्वकर्मा नई दिल्ली, 15 December 2017
हिमाचल Exit Poll: BJP की एकतरफा जीत का अनुमान, मिल सकती हैं 47 से 55 सीटें एग्जिट पोल में हिमाचल में कमल खिलता दिख रहा है.

आजतक के एग्जिट पोल में हिमाचल में इस बार बीजेपी को 47 से 55 जबकि कांग्रेस को 13-20 सीटें मिलती दिख रही हैं. अन्य के खाते में 2 सीटें आने का अनुमान है. इंडिया टुडे-एक्सिस माई इंडिया के एग्जिट पोल में हिमाचल के 68 विधानसभा क्षेत्रों में सर्वे किया गया. यहां सैंपल साइज 14222 था, जबकि सर्वे करने वाले 23 थे.

हिमाचल में कितना प्रतिशत वोट

कांग्रेस को 41%

बीजेपी को 50%

अन्य- 9%

किसे कितनी सीटें

बीजेपी- 47-55

कांग्रेस- 15-22

ऐसे में हिमाचल प्रदेश में इस बार बीजेपी सरकार बनाती दिख रही है. अभी तक प्रदेश का इतिहास रहा है कि यहां कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही पार्टियां बारी-बारी से राज करती रही हैं. पिछली सरकार कांग्रेस की रही थी. ऐसे में इस बार बीजेपी को भरोसा है कि इस बार राज्य में उनकी ही सरकार रहेगी. अब एग्जिट पोल के आंकड़े भी यही इशारा कर रहे हैं कि सूबे में इस बार प्रेम कुमार धूमल सरकार बना सकते हैं.

वीरभद्र सरकार पर लगे थे घोटाले के आरोप

पिछले पांच साल में वीरभद्र सिंह सरकार पर घोटाले के कई आरोप लगे थे. पीएम नरेंद्र मोदी ने भी यहां प्रचार के दौरान इस बात को जमकर भुनाया था. उन्होंने प्रचार के दौरान कहा था कि इस देवभूमि से पांच दानवों को मुक्त कराना है.

पीएम ने किया था पांच दानवों का जिक्र

ये थे पांच दानव

1. ड्रग माफिया

2. खनन माफिया

3. ट्रांसफर माफिया

4. वन माफिया

5. टेंडर माफिया

पिछली बार हिमाचल प्रदेश में कुल 68 विधानसभा सीटों में से कांग्रेस ने 36 सीटें जीती थीं. यहां बीजेपी की हार हुई थी. बीजेपी को सिर्फ 26 सीटें ही मिली थीं. बीजेपी ने प्रेम कुमार धूमल की अगुवाई में चुनाव लड़ा था. यहां से वीरभद्र सिंह छह बार मुख्यमंत्री रहे हैं.

क्या कहता है समीकरण?

हिमाचल प्रदेश में कुल 68 विधानसभा सीटें हैं. पिछले विधानसभा चुनाव में राज्य की 68 सीटों में से कांग्रेस को 36, बीजेपी को 26 तो अन्य को 6 सीटें मिली थीं. कांग्रेस को 2007 की तुलना में 2012 के विधानसभा चुनाव में 13 सीटों का फायदा हुआ था, वहीं बीजेपी को 2007 की तुलना में 2012 में 16 सीटों का नुकसान उठाना पड़ा था.

कुल 337 प्रत्याशी मैदान में

इस बार हिमाचल में 68 सीटों के लिए कुल 337 प्रत्याशी मैदान में थे. इसमें भी पुरुष प्रत्याशी 138 जबकि महिला प्रत्याशी सिर्फ 19 थीं.इस बार सीधा मुकाबला मौजूदा मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह और बीजेपी के सीएम पद के उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमल के बीच है. प्रेम कुमार धूमल ने दावा किया है कि उनकी पार्टी 60 से अधिक सीटें जीतने जा रही हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay