एडवांस्ड सर्च

हिमाचल: बीजेपी की कोर कमेटी की बैठक शुरू, लग सकती है CM के नाम पर मुहर

बीजेपी सूत्रों के मुताबिक हिमाचल के जीते हुए विधायकों में से ही मुख्यमंत्री चुना जाएगा. इस फैसले के बाद जेपी नड्डा और प्रेम सिंह धूमल दोनों सीएम की रेस से बाहर हो गए हैं.

Advertisement
हिमांशु मिश्रा [Edited by: कुबूल अहमद]नई दिल्ली, 21 December 2017
हिमाचल: बीजेपी की कोर कमेटी की बैठक शुरू, लग सकती है CM के नाम पर मुहर शिमला में बीजेपी को कोर कमेटी की बैठक में मौजूद रक्षामंत्री निर्मला सीतारमन और प्रेम सिंह धूमल

हिमाचल प्रदेश के नए मुख्यमंत्री के नाम पर आज मुहर लग सकती है. शिमला में बीजेपी की कोर कमेटी की बैठक शुरू हो गई है. बैठक के बाहर जयराम ठाकुर के समर्थक नारेबाजी कर रहे हैं. वहीं धूमल के भी समर्थक जुटे हुए हैं. पर्यवेक्षक बनाई गईं रक्षामंत्री निर्मला सीतारमन और नरेंद्र तोमर यहां सभी विधायकों से बात कर रहे हैं. 

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री को लेकर कई दिनों से कई चेहरों के लेकर कयास लगाए जा रहे थे. इनमें केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा और विधानसभा चुनाव हारने के बाद भी प्रेम सिंह धूमल का नाम सीएम की रेस में चल रहा था. लेकिन बीजेपी सूत्रों के मुताबिक हिमाचल के जीते हुए विधायकों में से ही मुख्यमंत्री चुना जाएगा. इस फैसले के बाद जेपी नड्डा और प्रेम सिंह धूमल दोनों सीएम की रेस से बाहर हो गए हैं.

बता दें कि बीजेपी ने हिमाचल में प्रेम सिंह धूमल के चेहरे को आगे करके विधानसभा चुनाव में उतरी थी. लेकिन धूमल के विधानसभा चुनाव हार जाने के बाद सीएम के नाम पर मंथन चल रहा है. इस रेस में केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा और प्रेम सिंह धूमल सहित कई नाम चल रहे थे. लेकिन बीजेपी के सूत्रों के मुताबिक साफ है कि विधायकों में से ही किसी एक नाम पर मुहर लगेगी. इसका मतलब साफ है कि धूमल और जेपी नड्डा इस रेस से बाहर है. क्योंकि मौजूदा समय में नड्डा राज्यसभा के सदस्य हैं और धूमल किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैं.

मुख्यमंत्री की रेस में पांच बार के विधायक जयराम ठाकुर , सातवीं बार जीते मोहिंदर सिंह, पांच बार जीत चुके विधायक राजीव बिंदल, पूर्व प्रदेश बीजेपी प्रमुख सुरेश भारद्वाज और कृष्ण कपूर (दोनों चौथी बार निर्वाचित) सहित राज्य में बीजेपी के कुछ अन्य वरिष्ठ नेताओं के नाम पर भी विचार हो सकता है. राज्य की 68 सदस्यीय विधानसभा में बीजेपी के 44 सदस्य हैं.

संपर्क किये जाने पर बीजेपी के कई विधायकों ने कहा कि गुरुवार की बैठक के बारे में उन्हें कोई आधिकारिक सूचना नहीं है, लेकिन साथ ही कहा कि उनमें से अधिकतर शिमला पहुंच चुके हैं. दत्त ने कहा कि केंद्रीय पर्यवेक्षक सदस्यों की राय जानेंगे और पार्टी के शीर्ष कमान को एक रिपोर्ट सौंपेंगे.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay