एडवांस्ड सर्च

गुजरात में जीत तो मोदी को मिली, लेकिन राहुल गांधी की हो रही तारीफ

तृणमूल कांग्रेस की नेता ममता बनर्जी ने कहा है कि गुजरात में बीजेपी बस किसी तरह अपना चेहरा बचा पाई है, तो शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के द्वारा राहुल के लंबी छलांग लगाने की बात कही है.

Advertisement
aajtak.in
दिनेश अग्रहरि/ विरेंद्रसिंह घुनावत मुंबई, 19 December 2017
गुजरात में जीत तो मोदी को मिली, लेकिन राहुल गांधी की हो रही तारीफ पीएम मोदी और राहुल गांधी

बीजेपी की गुजरात जीत को जहां तमाम विपक्षी दल फीका बता रहे हैं, वहीं उसकी सहयोगी दल श‍िवसेना ने भी इस जीत को कमजोर बताते हुए कांग्रेस की तारीफ की है. तृणमूल कांग्रेस की नेता ममता बनर्जी ने कहा है कि गुजरात में बीजेपी बस किसी तरह अपना चेहरा बचा पाई है, तो शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के द्वारा राहुल के लंबी छलांग लगाने की बात कही है.

राहुल ने लगाई लंबी छलांग

गुजरात और हिमाचल के नतीजे आने के बाद शिवसेना के मुखपत्र सामान की संपादकीय में कहा गया है, ' गुजरात और हिमाचल मे भाजपा की जीत हुई, लेकिन कांग्रेस की भी हार नही हुई है. गुजरात मॉडल लड़खड़ा गया है. 2019 में क्या होगा, यह उसकी शुरुआत है. जीत भाजपा की हुई है, लेकिन चर्चा राहुल के लंबी छलांग की हो रही है.'

100 के आंकड़े तक पहुंचने में सांस फूल गई!

श‍िवसेना ने कहा, 'गुजरात में 150 सीटों से कम नही मिलेगी, ऐसा दावा सीना ठोक कर किया जा रहा था, लेकिन आखिर में 100 का आंकड़ा पाने में ही सांसें फूल गईं. एक समय देश की राजनीति में जो स्थान कांग्रेस का था, वह अब भाजपा ने ले लिया है. गुजरात के नतीजों ने बता दिया कि हवा नही बदले, लेकिन हवा धीमी पड़ गई है, मचलती लहरें ठंडी पड़ गई है.  2019 में क्या होगा, यह उसकी शुरुआत है. भाजपा के लिए यह खतरे की घंटी होनी चाहिए. राहुल गांधी ने हार्द‍िक जैसे सभी युवा नेताओं को साथ लेकर गुजरात का युद्ध लड़ा और जीतते-जीतते थोड़ा पीछे रहे गए, लेकिन आर्थिक रूप से साथ ही सत्ता के कारण 'शक्तिमान'  भाजपा को इन बच्चों ने करीब 100 तक रोक दिया. यह भी एक तरह से जीत ही है. कांग्रेस मुक्त हिंदुस्तान का सपना पूरा नही हुआ है. जो हम करें वही कायदा ऐसा मानने वालों के लिए यह चेतावनी है.'

दूसरी तरफ, तृणमूल कांग्रेस की नेता ममता बनर्जी ने भी बीजेपी की जीत को फीका बताते हुए राहुल गांधी की तारीफ की है. ममता बनर्जी ने कहा, 'मैं गुजरात के मतदाताओं को बधाई देती हूं कि उन्होंने इस बार काफी संतुलित मतदान किया है. यह बीजेपी के लिए एक अस्थायी और बस किसी तरह चेहरा बचाने वाली जीत ही है. यह बीजेपी के लिए नैतिक हार है. गुजरात ने आम आदमी के साथ होने वाले अत्याचार और अन्याय के खिलाफ वोट किया है.'

यूपी के पूर्व सीएम और सपा नेता अख‍िलेश यादव ने कहा, 'इस चुनाव ने यह साबित किया है कि जनता को गुमराह नहीं किया जा सकता. नतीजों ने बता दिया है कि गुजरात मॉडल एक धोखा है. यह भविष्य के चुनावों के लिए एक संकेत है.'

शरद यादव ने भी राहुल गांधी के अच्छे प्रयास के लिए उन्हें बधाई दी है. उन्होंने कहा, 'मैं गुजरात के जनादेश का सम्मान करता हूं. मुझे पूरा भरोसा है कि गुजरात की जनता जल्द ही यह समझ जाएगी कि बेरोजगारी, महंगाई जैसी समस्याओं का समाधान बीजेपी नहीं कर सकती.' 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
SMS करें GJNEWS और भेजें 52424 पर. यह सुविधा सिर्फ एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया सब्सक्राइबर्स के लिए ही उपलब्ध है. प्रीमियम एसएमएस चार्जेज लागू
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay