एडवांस्ड सर्च

कांग्रेस के चिन्ह पर लड़ने के बजाय अपना उम्मीदवार उतारना चाहेंगेः जिग्नेश मेवाणी

आजतक के साथ बातचीत में जिग्नेश ने कहा, 'कांग्रेस के चुनाव चिन्ह पर अपने नेताओं को खड़ा करने को लेकर हमारी कोई बातचीत नहीं चल रही है. इस बारे में कोई मोलभाव हो रहा है.'

Advertisement
aajtak.in
नंदलाल शर्मा/ आनंद पटेल अहमदाबाद, 16 November 2017
कांग्रेस के चिन्ह पर लड़ने के बजाय अपना उम्मीदवार उतारना चाहेंगेः जिग्नेश मेवाणी कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के साथ जिग्नेश मेवानी (फाइल)

दलित एक्टिविस्ट जिग्नेश मेवाणी ने गुजरात विधानसभा चुनाव में अपने उम्मीदवार उतारने को लेकर कांग्रेस के साथ किसी तरह के मोलभाव से स्पष्ट इनकार किया है. आजतक के साथ खास बातचीत में जिग्नेश ने कहा कि गुजरात चुनाव में वे अपने उम्मीदवार उतारना पसंद करेंगे.

आजतक के साथ बातचीत में जिग्नेश ने कहा, 'कांग्रेस के चुनाव चिन्ह पर अपने नेताओं को खड़ा करने को लेकर हमारी कोई बातचीत नहीं चल रही है. इस बारे में कोई मोलभाव हो रहा है.'

गुजरात चुनाव के लिए कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवारों की पहली लिस्ट फाइनल होने से एक दिन पहले जिग्नेश मेवाणी दिल्ली में थे. बता दें कि जिग्नेश उन तीन युवा नेताओं में से एक हैं, जिन्होंने चुनावी राज्य गुजरात में सियासी कोलाहल मचा रखा है.

कांग्रेस के निशान पर लड़ने के बजाय उतारेंगे उम्मीदवार

मेवाणी ने कहा कि हम अपने उम्मीदवार उतारना पसंद करेंगे, बजाय कांग्रेस के चुनाव चिन्ह पर चुनाव लड़ने के. दरअसल मेवाणी उस सवाल का जवाब दे रहे थे जिसमें पूछा गया था कि क्या वो और हार्दिक पटेल कांग्रेस से 25 सीटों की मांग को लेकर मोलभाव कर रहे हैं.

उन्होंने कहा, 'हम बीजेपी के 22 सालों के शासन को उखाड़ फेंकना चाहते हैं, लेकिन हम कांग्रेस को प्रमोट नहीं कर रहे हैं. गुजरात के लोग काफी समझदार हैं कि उन्हें किसे वोट देना है. हम उन्हें बताने नहीं जा रहे हैं.'

जिग्नेश ने कहा कि चुनाव प्रचार के दौरान राहुल गांधी ने जो वादा किया है, वो हमारी मांगों के काफी करीब है. लेकिन महत्वपूर्ण ये है कि वो वादा पूरा होता है कि नहीं.

26 नवंबर से जिग्नेश एंड टीम की मेगा रैली

बता दें कि जिग्नेश और उनकी टीम 26 नवंबर से 6 दिसंबर के बीच गुजरात की 13 आरक्षित विधानसभा क्षेत्रों में मेगा रैली की योजना बना रही है. जिग्नेश ने कहा कि 2019 की लड़ाई में बीजेपी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को हराना जरूरी है. इससे पहले उन्हें गुजरात विधानसभा चुनाव में हराना महत्वपूर्ण है.

दलित एक्टिविस्ट ने पूरे विश्वास से दावा किया कि गुजरात विधानसभा चुनाव में बीजेपी 80 सीटों पर सिमट जाएगी. उन्होंने आगे कहा कि हार्दिक पटेल का अंतरंग वीडियो जारी करके बीजेपी ने अपनी हताशा का परिचय दे दिया है. ये बताता है कि बीजेपी विकास पर बहस को तैयार नहीं है. राम बनाम हज के चुनाव प्रचार ने साफ कर दिया है कि बीजेपी बंटवारे की राजनीति में दिलचस्पी रखती है.

जिग्नेश ने कहा, 'हार्दिक और मैंने पीएम मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और मुख्यमंत्री विजय रूपाणी को विकास के मुद्दे पर डिबेट के लिए चैलेंज किया है. हमें उनके जवाब का इंतजार है.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
SMS करें GJNEWS और भेजें 52424 पर. यह सुविधा सिर्फ एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया सब्सक्राइबर्स के लिए ही उपलब्ध है. प्रीमियम एसएमएस चार्जेज लागू
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay