एडवांस्ड सर्च

Advertisement

पाटीदार जहां घुसने नहीं देते थे वहीं BJP ने जीतकर चौंकाया

18 December 2017
पाटीदार जहां घुसने नहीं देते थे वहीं BJP ने जीतकर चौंकाया
1/7
गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजे आ चुके हैं. बीजेपी एक बार फिर राज्य में सरकार बनाएगी. चुनाव के पहले कहा जा रहा था कि पाटीदार बहुल इलाकों में बीजेपी को नुकसान होगा, लेकिन नतीजे इसके विपरीत आए. बीजेपी को एक ऐसी सीट पर जीत मिली है, जहां कभी बीजेपी नेताओं को पाटीदार नेता घुसने तक नहीं देते थे.
पाटीदार जहां घुसने नहीं देते थे वहीं BJP ने जीतकर चौंकाया
2/7
यह है सूरत की वारछा सीट. बीजेपी प्रत्याशी किशोर कनानी ने यहां से जीत दर्ज की है. उन्हें 29207 वोट मिले हैं. वहीं, उनके खिलाफ खड़े कांग्रेस के प्रत्याशी को 26311 वोटों मिले हैं.
पाटीदार जहां घुसने नहीं देते थे वहीं BJP ने जीतकर चौंकाया
3/7
बता दें कि चुनाव के पहले इस पाटीदार बहुल इलाके में बीजेपी नेताओं को घुसने तक नहीं दिया जाता था. उनके खिलाफ जगह-जगह पोस्टर भी लगाए गए थे.
पाटीदार जहां घुसने नहीं देते थे वहीं BJP ने जीतकर चौंकाया
4/7
इसके बावजूद किशोर कनानी इस इलाके में जीतने में सफल रहे. नामांकन भरने के दौरान कनानी ने इस इलाके में बड़ी रैली कर सबको चौंका दिया था.
पाटीदार जहां घुसने नहीं देते थे वहीं BJP ने जीतकर चौंकाया
5/7
कनानी जब नामांकन भरने पहुंचे तो उनके साथ जबरदस्त भीड़ उमड़ी थी. वे अपने कार्यकर्ताओं के साथ सुरक्षा बल के बीच पाटीदार बहुल सरथाना और वरछा इलाके से गुजरे थे.
पाटीदार जहां घुसने नहीं देते थे वहीं BJP ने जीतकर चौंकाया
6/7
उनकी इस रैली की तस्वीर सोशल मीडिया समेत मीडिया में छाई रही थी. कहा तो यह भी जा रहा था कि कनानी का विरोध पाटीदारों के अलावा खुद बीजेपी के नेता भी कर रहे थे, क्योंकि उन्हें दोबारा इस सीट से टिकट मिला था.
पाटीदार जहां घुसने नहीं देते थे वहीं BJP ने जीतकर चौंकाया
7/7
मालूम हो कि सूरत का सरथाना और वरछा वही इलाका है जहां कभी अमित शाह और विजय रुपानी के खिलाफ नारेबाजी हुई थी, जिसके बाद उन्हें यहां से जाना पड़ा था.
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay