एडवांस्ड सर्च

Advertisement

दरका बीजेपी का किला, हाथ से निकली वो सीट जिसकी नहीं थी उम्मीद

18 December 2017
दरका बीजेपी का किला, हाथ से निकली वो सीट जिसकी नहीं थी उम्मीद
1/7
गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजे आ चुके हैं. बीजेपी ने भले ही चुनाव में जीत दर्ज की हो, लेकिन उनके हाथ से एक ऐसी सीट फिसल गई, जिसकी उम्मीद शायद ही पार्टी के नेताओं ने कभी की होगी.
दरका बीजेपी का किला, हाथ से निकली वो सीट जिसकी नहीं थी उम्मीद
2/7
यह सीट है बीजेपी का किला मानी जाने वाली जूनागढ़ सीट. इस सीट पर अब कांग्रेस ने कब्ज़ा कर लिया है. यहां से कांग्रेस के उम्मीदवार गाला भाई भिका भाई जोशी ने बीजेपी के महेंद्र मशरु को हराकर जीत दर्ज की है.
दरका बीजेपी का किला, हाथ से निकली वो सीट जिसकी नहीं थी उम्मीद
3/7
जोशी को 76850 वोट मिले हैं. वहीं, महेंद्र मशरु को 70766 वोट मिले.
दरका बीजेपी का किला, हाथ से निकली वो सीट जिसकी नहीं थी उम्मीद
4/7
इस सीट की सबसे दिलचस्प बात यह है कि यहां 19 साल से बीजेपी का कब्ज़ा था. जिसे अब कांग्रेस ने अपने नाम कर लिया है.
दरका बीजेपी का किला, हाथ से निकली वो सीट जिसकी नहीं थी उम्मीद
5/7
हारने वाले बीजेपी प्रत्याशी महेंद्र मशरु यहां बीते 6 बार से विधायक चुनते आ रहे थे.
दरका बीजेपी का किला, हाथ से निकली वो सीट जिसकी नहीं थी उम्मीद
6/7
अपनी सादगी को लेकर मशहूर महेंद्र मशरु चुनाव प्रचार में एक रूपए भी खर्च नहीं करते थे और ना ही उनके साथ कोई कार्यकर्ता होते हैं.
दरका बीजेपी का किला, हाथ से निकली वो सीट जिसकी नहीं थी उम्मीद
7/7
 उनकी सादगी का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि उनके पास ना तो कोई गाड़ी है और ना ही बड़ा बैंक बैलेंस. एक कमरे में रहकर गुजारा करने वाले महेंद्र लाल राजनीति में आने से पहले बैंक में नौकरी करते थे.
Advertisement
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay