एडवांस्ड सर्च

बिहार में BJP के विज्ञापन पर बढ़ा बवाल, EC ने अखबारों से मांगा जवाब

चुनाव आयोग ने बिहार विधानसभा चुनाव की आखिरी दौर की वोटिंग से पहले मनाही के बावजूद अखबार में दिए गए बीजेपी के विज्ञापन पर प्रदेश बीजेपी और विज्ञापन छापने वाले अखबारों से स्‍पष्‍टीकरण मांगा है.

Advertisement
aajtak.in
शश‍ि भूषण पटना, 05 November 2015
बिहार में BJP के विज्ञापन पर बढ़ा बवाल, EC ने अखबारों से मांगा जवाब बिहार में BJP के इस विज्ञापन पर हुआ बवाल

चुनाव आयोग ने बिहार विधानसभा चुनाव की आखिरी दौर की वोटिंग से पहले मनाही के बावजूद अखबार में दिए गए बीजेपी के विज्ञापन पर प्रदेश बीजेपी और विज्ञापन छापने वाले अखबारों से स्‍पष्‍टीकरण मांगा है. इसके अलावा आयोग ने आदेश दिया है कि कोई भी पार्टी, उम्मीदवार, संगठन या व्यक्ति उसकी इजाजत के बगैर गुरुवार (5 नवंबर) को अखबारों में कोई विज्ञापन नहीं देगा.

इससे पहले महागठबंधन ने इस मामले में चुनाव आयोग से शिकायत की थी. जेडीयू ने चुनाव आयोग से इस विज्ञापन को लेकर बीजेपी के खिलाफ कार्रवाई करने की भी मांग की है. महागठबंधन के नेता इस मुद्दे पर चुनाव आयोग से मिले और औपचारिक शिकायत दर्ज कराई. इस विज्ञापन को लेकर आम आदमी पार्टी के नेता और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी बीजेपी को घेरा. उन्होंने कहा कि बीजेपी को स्पष्ट करना चाहिए कि यह विज्ञापन बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व की ओर से दिए गए हैं या भटके हुए लोगों द्वारा दिए गए हैं.

आपको बता दें कि बीजेपी ने अपने इस विज्ञापन में आरजेडी नेताओं लालू प्रसाद यादव और रघुवंश प्रसाद सिंह के अलावा कर्नाटक के मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता सिद्धारमैया के गाय पर दिए बयानों को दिखाने के साथ ही नीतीश कुमार पर सवाल दागे गए हैं. विज्ञापन के जरिए बीजेपी ने पूछा है, 'मुख्यमंत्री जी आपके साथी हर भारतीय के पूज्य गाय का बार-बार अपमान करते रहे और आप फिर भी चुप रहे!' बीजेपी ने कहा है कि वोट बैंक की खातिर राजनीति करने के बजाय नीतीश कुमार जवाब दें.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay