एडवांस्ड सर्च

बिहार में अगर NDA जीता, तो किस ओर बढ़ेगी PM मोदी की सियासत

बिहार चुनाव खत्म होने के साथ ही लोगों की निगाहें अब इस बात पर टिक गई हैं कि आख‍िर प्रदेश में सरकार कौन बनाता है. दोनों बड़े गठबंधन अपनी-अपनी जीत के दावे कर रहे हैं. दूसरी ओर तमाम एग्ज‍िट पोल के नतीजे अलग-अलग आ रहे हैं, जिससे रिजल्ट का सटीक अनुमान लगाना मुश्क‍िल नजर आ रहा है.

Advertisement
aajtak.in
अमरेश सौरभ नई दिल्ली, 07 November 2015
बिहार में अगर NDA जीता, तो किस ओर बढ़ेगी PM मोदी की सियासत NDA ने PM मोदी के नाम को आगे रखकर बिहार में चुनाव लड़ा है

बिहार चुनाव खत्म होने के साथ ही लोगों की निगाहें अब इस बात पर टिक गई हैं कि आख‍िर प्रदेश में सरकार कौन बनाता है. दोनों बड़े गठबंधन अपनी-अपनी जीत के दावे कर रहे हैं. दूसरी ओर तमाम एग्ज‍िट पोल के नतीजे अलग-अलग आ रहे हैं, जिससे रिजल्ट का सटीक अनुमान लगाना मुश्क‍िल नजर आ रहा है.

ऐसे में एक सवाल उठता है कि अगर बिहार में NDA को जीत मिलती है, तो इससे PM नरेंद्र मोदी के 'सियासी कद' और NDA की रणनीति पर क्या असर पड़ेगा? आगे इन्हीं बातों पर चर्चा की गई है.

1. कामयाबी का दूसरा नाम नरेंद्र मोदी!
अगर बिहार में NDA सरकार बनाने में सफल होता है, तो देश के राजनीतिक फलक पर नरेंद्र मोदी का नाम और बड़ा हो जाएगा. लोकसभा चुनाव में शानदार कामयाबी के बाद बिहार की जीत मोदी के लिए एक और मील का पत्थर साबित होगी. NDA ने चुनाव नरेंद्र मोदी का नाम आगे रखकर लड़ा है, इसलिए जीत का सेहरा उनके ही सिर पर बांधा जाना तय है.

2. यूपी चुनाव में जीत की संभावना बढ़ेगी
दूसरा बड़ा असर यह होगा कि आगे जिन-जिन प्रदेशों में चुनाव होना है, वहां NDA के पक्ष में लहर चलेगी या कम से कम लहर 'पैदा करने' की कोश‍िश की जाएगी. ऐसे में कहा जा सकता है कि यूपी में 2017 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी और एनडीए की जीत की संभावना बढ़ जाएगी.

3. विपक्ष की हताशा और बढ़ेगी
बिहार और यूपी, दो ऐसे प्रदेश हैं, जिसकी धुरी पर करीब-करीब पूरे देश की सियासत घूमती है. NDA बिहार के बाद अगर यूपी में अपनी संभावनाएं बढ़ा लेता है, तो विपक्ष पूरी तरह हताश हो जाएगा. हाश‍िए पर जा चुकी कांग्रेस में 'वैचारिक मंथन' का नया दौर शुरू हो सकता है. JDU और RJD का दबदबा कम होने की सूरत में अन्य क्षेत्रीय पार्टियों का भी मनोबल गिरेगा.

4. मोदी-शाह की जोड़ी और मजबूत होगी
बिहार में कामयाबी मिलने पर नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की जोड़ी 'सुपरहिट' करार दे दी जाएगी. सरकार और पार्टी पर इस जोड़ी की पकड़ पहले से भी ज्यादा मजबूत हो जाएगी.

5. चुनाव प्रचार में 'गाय' पर फोकस बढ़ेगा
बिहार में हर छोटी-बड़ी पार्टी भले ही विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ने का दावा करती रही हो, पर हकीकत यह है कि चुनाव में विकास से अलग हटकर कई दूसरे मुद्दे हावी रहे. गाय-बछड़े से लेकर तंत्र-मंत्र और सरसों तक प्रचार में छाए रहे. ऐसे में अगर मोदी जीतते हैं, तो आने वाले चुनावों में 'गाय' पर चर्चा और तेज होगी.

(अगली कड़ी में पढ़ें: अगर बिहार में महागठबंधन को जीत मिलती है, तो...)

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay