एडवांस्ड सर्च

बिहारः नतीजों से पहले सुशील मोदी का विजयी भाषण लीक!

बिहार चुनाव के नतीजे भले ही 8 नवंबर को आने वाले हैं, लेकिन एग्जिट पोल ने दो दिन के लिए दोनों गठबंधनों को खुशी दे दी. एनडीए अपनी और महागठबंधन अपनी जीत को लेकर बेफिक्र है. इस बीच, सुशील कुमार मोदी के विजयी भाषण के कुछ अंश लीक हो गए हैं.

Advertisement
aajtak.in
विकास वशिष्ठ नई दिल्ली, 06 November 2015
बिहारः नतीजों से पहले सुशील मोदी का विजयी भाषण लीक! सुशील कुमार मोदी

बिहार चुनाव के नतीजे भले ही 8 नवंबर को आने वाले हैं, लेकिन एग्जिट पोल ने दो दिन के लिए दोनों गठबंधनों को खुशी दे दी. एनडीए अपनी और महागठबंधन अपनी जीत को लेकर बेफिक्र है. दो सर्वेक्षणों में महागठबंधन और चार में बीजेपी को आगे बताया गया है. लिहाजा दोनों में सरकार बनाने की तैयारी चल रही है.

हालांकि जाहिर तौर पर डर भी दोनों में ही होगा. लेकिन फिलहाल दोनों महागठबंधनों के नेता अपना-अपना विजयी भाषण लिखने-लिखवाने में व्यस्त हैं. इस बीच, राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री और बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी के विजयी भाषण का मजमून तैयार हो गया है और इसके कुछ अंश लीक हो गए हैं.

डिस्क्लेमरः भाषण के ये अंश आधिकारिक नहीं हैं और न ही aajtak.in इसकी पुष्टि करता है.

मित्रो...! बिहार की जनता, चुनाव आयोग, मीडिया तथा चुनाव से जुड़े लोगों का मैं आभार व्यक्त करता हूं. मैं शुरू से कहता रहा था कि बीजेपी की जीत सुनिश्चित है. यह बदलाव का जनादेश है. इस बार की दि‍वाली ऐतिहासिक है. हर बार लक्ष्मीपूजन से पहले नरक चतुर्दशी मनाई जाती है. जंगल-झाड़ और कूड़े-कबाड़ पर अंतिम झाड़ू लगाई जाती है. बिहार की जनता ने भी नरक चतुर्दशी मनाई है. जंगलराज और कूड़े-कबाड़ पर अंतिम झाड़ू लगा दी है. इस जनादेश ने गरीबी और कुशासन का सूपड़ा साफ कर दिया है.

यह सुशासन के लिए दिया गया जनादेश है. सरकार बदली है...अब बिहार भी बदलेगा...! उन्होंने लाख दुष्प्रचार किया, लेकिन बिहार की जनता ने उन्हें आईना दिखा दिया. अब पुराने दिन लद गए समझिए. अपहरण, दलितों, पिछड़ों, अति पिछड़ों पर अत्याचार खत्म होगा. समझिए अच्छे दिन आ गए...

बिहार की जनता ने नीतीश कुमार को पीएम मोदीजी से नाता तोड़ने का सबक सिखाया है. आरक्षण के नाम पर संप्रदाय की राजनीति करने वालों की पोल खुली है. महागठबंधन ने बीजेपी को रोकने के लिए गोहत्या के नाम पर अपनी सियासत चमकाने की कोशिश की थी. लेकिन हम अब गोहत्या रोकने के लिए कड़ा कानून बनाएंगे, जिसमें एक लाख रुपये जुर्माना और 10 साल तक की कैद का प्रावधान होगा. अब बिहार परिवर्तन के विकास पथ पर दौड़ेगा. 

यह किसी बीजेपी या एनडीए की नहीं, बिहार की जनता की जीत है. इस जीत के लिए बिहार की जागरूक जनता को बहुत-बहुत बधाई...कोटि-कोटि धन्यवाद.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay