एडवांस्ड सर्च

राहुल की रैली की खिल्ली उड़ाई नरेंद्र मोदी ने, कहा कि यहां जगह नहीं बचती, वहां रोकना पड़ता है

रविवार को दिल्ली में हुई राहुल गांधी की फ्लॉप रैली की खिल्ली उड़ाते हुए नरेंद्र मोदी ने कहा कि यहां बैठने की जगह नहीं है और वहां भीड़ रोकनी पड़ती है.

Advertisement
आज तक वेब ब्यूरो [Edited by सौरभ द्विवेदी]अलवर, 19 November 2013
राहुल की रैली की खिल्ली उड़ाई नरेंद्र मोदी ने, कहा कि यहां जगह नहीं बचती, वहां रोकना पड़ता है अलवर में रैली संबोधित करते बीजेपी के पीएम उम्मीदवार नरेंद्र मोदी

रविवार को दिल्ली में हुई राहुल गांधी की फ्लॉप रैली की खिल्ली उड़ाते हुए नरेंद्र मोदी ने कहा कि यहां बैठने की जगह नहीं है और वहां भीड़ रोकनी पड़ती है. राहुल की इस रैली में उनके भाषण से पहले ही लोग उठकर जाने लगे थे और मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के कहने पर भी नहीं रुके थे. इस वाकये का इशारों में जिक्र राजस्थान के अलवर शहर में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए नरेंद्र मोदी ने किया. फिर वह बोले कि कांग्रेस रेत में भी खाती है और खेत में भी. रेल में भी खाती है और खेल में भी. तीनों लोकों में इसका भ्रष्टाचार फैला हुआ है.

राज्य और केंद्र की सरकार को कई मुद्दों पर कोर्ट से मिली झिड़की का जिक्र करते हुए मोदी बोले कि ये पहली सरकार है, जो हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट से बार-बार फटकार पा रही है. राजस्थान की गहलोत सरकार पर हमला बोलते हुए मोदी ने कहा कि हमारे कांग्रेसी मित्र नंबर वन की दुहाई देते हैं. हां, उनकी सरकार नंबर वन है. आदिवासियों पर अत्याचार में. गरीबों को दूषित पानी मुहैया कराने में. उन्होंने कहा कि राजस्थान की सरकार बार-बार गुजरात से तुलना करती है. उसे चाहिए कि आए और गुजरात की पेयजल स्कीम देखे. इतने बड़े बड़े पाइप बिछे हैं कि गहलोत पूरे परिवार समेत कार में सवार होकर उसके भीतर से आराम से गुजर जाएं. गहलोत राज में सड़कों की खराब हालत पर चुटकी लेते हुए मोदी ने कहा कि आपके मंत्री कहते हैं कि राजस्थान से गुजरात जाते ही नींद आ जाती है. क्योंकि यहां खड्डे हैं और वहां स्मूद रोड.

नरेंद्र मोदी के समर्थक उनकी आमद पर नारा लगाते हैं, देखो देखो कौन आया गुजरात का शेर आया. अब ये नारा नए संदर्भ में गुजरात की जगह भारत मां को ले आया है. ऐसे में मोदी भी जब तब अपनी इस छवि को पुष्ट करते रहते हैं. अलवर में उन्होंने चुनावी तौर पर गौण मुद्दे राज्य में बाघों की घटती संख्या का जिक्र किया. और फिर अपनी पीठ थपथपाते हुए कहा कि गुजरात में शेर बढ़ रहे हैं. आप किस मुंह से मेरी तुलना करते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay