एडवांस्ड सर्च

सीएम की कुर्सी के दावेदार कैप्‍टन अमरिंदर सिंह

11 मार्च 1942 को जन्‍मे कैप्‍टन अमरिंदर सिंह 2002 से 2007 तक पंजाब के मुख्‍यमंत्री रहे. वर्तमान में वे पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्‍यक्ष हैं और पटियाला में न्‍यू मोती बाग पैलेस में रहते हैं.

Advertisement
आजतक ब्‍यूरोनई दिल्‍ली, 25 January 2012
सीएम की कुर्सी के दावेदार कैप्‍टन अमरिंदर सिंह कैप्‍टन अमरिंदर सिंह

11 मार्च 1942 को जन्‍मे कैप्‍टन अमरिंदर सिंह 2002 से 2007 तक पंजाब के मुख्‍यमंत्री रहे. वर्तमान में वे पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्‍यक्ष हैं और पटियाला में न्‍यू मोती बाग पैलेस में रहते हैं.

अमरिंदर सिंह ने देहरादून के दून स्‍कूल में पढ़ाई की है. कैप्‍टन अमरिंदर सिंह 1963 में सेना में भर्ती हुए और 1965 में इस्‍तीफा दे दिया. 1965 में ही पाकिस्‍तान युद्ध के दौरान उन्‍होंने दोबारा सेना की वर्दी पहनी और मोर्चे पर कमान संभाली. 1966 में उन्‍होंने एक बार फिर सेना से इस्‍तीफा दे दिया.

अमरिंदर 1980 में कांग्रेस के टिकट पर लोकसभा के लिए चुने गए. 1984 में ऑपरेशन ब्‍लू स्‍टार के विरोध में उन्‍होंने संसद और कांग्रेस से इस्‍तीफा दे दिया. इसके बाद वे सिख फोरम के संयोजक बन गए और उन्‍होंने शिरोमणि अकाली दल की सदस्‍यता ले ली.

उन्‍होंने विधानसभा चुनाव लड़ा और जीतने के बाद राज्‍य सरकार में कृषि, वन विकास और पंचायत मंत्री बने. बाद में उन्‍होंने शिरोमणि अकाली दल से अलग होकर शिरोमणि अकाली दल (पैन्थिक) बनायी, जो आगे चलकर कांग्रेस में सम्मिलित हो गई.

2008 में पंजाब विधासभा की एक विशेष कमेटी ने उन्‍हें भ्रष्‍टाचार के मामलो में विधानसभा से निष्काषित कर दिया. 2010 में सुप्रीम कोर्ट ने उनके निष्‍काशन को रद्द कर दिया. उनकी पत्‍नी प्रनीत कौर एमपी हैं और केन्‍द्र सरकार में विदेश राज्‍य मंत्री हैं.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay