एडवांस्ड सर्च

Advertisement

'मोदी के खिलाफ 30-40 हजार वोट बटोरना मेरी जीत'

गुजरात चुनाव में नरेंद्र मोदी भले ही मणिनगर विधानसभा सीट पर अपनी जीत का परचम लहरा दिया है लेकिन एक शख्स ऐसा भी है जो इसे गुजरात का दुर्भाग्य मानता है. ये शख्स कोई और नहीं उनसे चुनाव हारने वाली पूर्व आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट की पत्नी श्वेता भट्ट हैं. श्वेता को मोदी ने 86373 मतों के अंतर से हराया है लेकिन श्वेता मानती हैं कि मोदी के खिलाफ उन्होंने जितने वोट बटोरे हैं यही उनकी जीत है.
'मोदी के खिलाफ 30-40 हजार वोट बटोरना मेरी जीत' श्वेता भट्ट
आज तक वेब ब्यूरोनई दिल्ली, 20 December 2012

गुजरात चुनाव में नरेंद्र मोदी भले ही मणिनगर विधानसभा सीट पर अपनी जीत का परचम लहरा दिया है लेकिन एक शख्स ऐसा भी है जो इसे गुजरात का दुर्भाग्य मानता है. ये शख्स कोई और नहीं उनसे चुनाव हारने वाली पूर्व आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट की पत्नी श्वेता भट्ट हैं. श्वेता को मोदी ने 86373 मतों के अंतर से हराया है लेकिन श्वेता मानती हैं कि मोदी के खिलाफ उन्होंने जितने वोट बटोरे हैं यही उनकी जीत है.

श्वेता भट्ट ने मोदी से हार के बाद कहा, ‘मैंने 100 प्रतिशत दिया. मुझे यह दिखाना था कि मोदी के खिलाफ एक महिला कैसे खड़ी हो सकती है. मेरी कोई बहुत बड़ी राजनीतिक महत्वकांक्षा नहीं है. अगर मैं 30-40 हजार वोट ला सकती हूं तो यह मेरी जीत है.’

श्वेता ने आगे कहा, ‘मोदी की जीत गुजरात के लिए दुर्भाग्यपूर्ण है. मैं 17 दिनों के अपने चुनाव प्रचार के दौरान मणिनगर उन सभी इलाकों में गई जहां पिछले 12 सालों से मोदी नहीं गए. यहां मूलभूत सुविधाओं की कमी है. अगर मैंने अपना काम करना जारी नहीं रखा तो मुझे बुरा लगेगा. मैं नहीं जानती कि गुजरात के लोगों को क्या चीज अपील करती है. लेकिन जब तक लोगों को सच्चाई की जानकारी होगी तब तक बहुत देर हो चुकी होगी.’

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay