एडवांस्ड सर्च

उद्धव ठाकरे ने कहा, 'राजनाथ सिंह बीजेपी अध्‍यक्ष रहते, तो बच जाता गठबंधन'

महाराष्‍ट्र विधानसभा चुनाव से पहले देश की सियासत करवट बदलती नजर आ रही है. लोगों की निगाहें शिवसेना के रुख की ओर टिकी हुई हैं, जिसका बीजेपी से गठबंधन खत्‍म हो चुका है. शिवसेना सुप्रीमो उद्धव ठाकरे ने अमित शाह पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर राजनाथ सिंह बीजेपी अध्यक्ष होते, तो गठबंधन टूटने की नौबत नहीं आती.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in [Edited By: अमरेश सौरभ]नई दिल्‍ली, 07 October 2014
उद्धव ठाकरे ने कहा, 'राजनाथ सिंह बीजेपी अध्‍यक्ष रहते, तो बच जाता गठबंधन' उद्धव ठाकरे (फाइल फोटो)

महाराष्‍ट्र विधानसभा चुनाव से पहले देश की सियासत करवट बदलती नजर आ रही है. लोगों की निगाहें शिवसेना के रुख की ओर टिकी हुई हैं, जिसका बीजेपी से गठबंधन खत्‍म हो चुका है. शिवसेना सुप्रीमो उद्धव ठाकरे ने अमित शाह पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर राजनाथ सिंह बीजेपी अध्यक्ष होते, तो गठबंधन टूटने की नौबत नहीं आती.

उद्धव ठाकरे ने खुद पर उठ रहे सवालों के जवाब में कहा, 'अगर मेरे सीएम बनने की महत्वकांक्षा से गठबंधन टूटा, तो बीजेपी ज्यादा सीटें क्यों मांग रही थी?' उद्धव ने एक बार फिर दोहराया कि अगर जनता चाहेगी, तो वे सीएम जरूर बनेंगे.

आजतक से बात करते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि बीजेपी से गठबंधन तोड़ने का उनका कोई इरादा नहीं था. उद्धव ठाकरे ने कहा, 'अब यह जनता तय करे कि अच्छे दिन बताने वाले लोग अगर पुराने दोस्त से नाता तोड़ लें, तो क्या उन पर भरोसा किया जा सकता है?'

उद्धव ने एक कदम आगे बढ़कर आरोप लगाते हुए कहा, 'मैंने एनसीपी को एनडीए गठबंधन में शामिल करने का विरोध किया, पर मुझे यह नहीं मालूम था कि नए पार्टनर के लिए वे मुझे धोखा देंगे.' उन्‍होंने कहा कि बालासाहेब के करिश्मा के बूते ही  महाराष्ट्र में बीजेपी ने अपना प्रभाव जमाया, पर अब उन्‍होंने शिवसेना को धोखा दिया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay