एडवांस्ड सर्च

काम की बदौलत पांच साल बाद हीरो बनना चाहता हूं: मनोज तिवारी

एजेंडा आज तक 2014 के दूसरे दिन पहली पहली बार सेशन में भोजपुरी गायक व अभि‍नेता तथा बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने अपनी बात रखी. पढ़ें मनोज तिवारी ने क्या कहा...

Advertisement
aajtak.in
बबिता पंतनई दिल्ली, 14 December 2014
काम की बदौलत पांच साल बाद हीरो बनना चाहता हूं: मनोज तिवारी 'एजेंडा आज तक' में मनोज तिवारी

सवाल: साध्‍वी निरंजन ज्‍योति जैसे लोगों के बयान तो मन की स्‍वच्‍छता के प्रतीक नहीं हो सकते?
जवाब: मैं और मेरी पार्टी उस बयान के साथ नहीं है. ऐसे बयानों से दुख होता है. मुझे गर्व है कि मैं ऐसी पार्टी से हूं जिसका नेतृत्‍व इन बयानों का खंडन करता है. हम ऐसे बयानों को बढ़ावा नहीं देते क्‍योंकि हम जानते हैं कि इससे हमारे विपक्षियों को मौका मिलेगा.

सवाल: आप यमुना की सफाई के लिए क्‍या-क्‍या सोच रहे हैं?
जवाब: बहुत कुछ सोचा है. अगर आपको कुछ सालों में दिल्‍ली में यमुना किनारे छोटी-छोटी नावें चलती दिखें और प्‍लेन उतरते दिखें तो आश्‍चर्य मत कीजिएगा. हम यहां यमुना जी के किनारे टूरिज्‍म को बढ़ावा देंगे.

सवाल: आप फिल्‍म इंडस्‍ट्री से हैं और पत्रकारिता को भी दूर से देखा है?
जवाब: (बीच में रोकते हुए) हमसे जटिल सवाल मत कीजिए. हमसे सब सच्‍चा-सच्‍चा ही कहा जाएगा.

सवाल: आपकी पार्टी का फोकस क्‍या है?
जवाब: हमारा एजेंडा सिर्फ विकास का है. नॉर्थ ईस्‍ट दिल्‍ली की स्थिति देखिए. लगेगा नहीं कि ये दिल्‍ली का हिस्‍सा है. मैं कुछ किए बिना बोलना नहीं चाहता. पांच साल बाद मैं जवाब दूंगा. मैं पांच साल बाद हीरो बनना चाहता हूं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay