एडवांस्ड सर्च

सीटें चाहे कम आएं या ज्यादा, बीजेपी के पीएम कैंडिडेट नरेंद्र मोदी ही रहेंगे: राजनाथ सिंह

एजेंडा आज तक में पहुंचे बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने बुधवार को साफ कर दिया कि वह भारत के प्रधानमंत्री की रेस में कतई नहीं हैं और यह पद तो नरेंद्र मोदी के लिए ही है. उन्होंने कहा कि चाहे 170 सीट आए, या 200 सीट या ज्यादा, पीएम पद के लिए नरेंद्र मोदी ही हैं. अपनी स्थिति साफ करते हुए राजनाथ बोले कि मैं गाजियाबाद से ही चुनाव लड़ूंगा

Advertisement
सौरभ द्विवेदी [Edited by: कुलदीप मिश्र]नई दिल्‍ली, 05 December 2013
सीटें चाहे कम आएं या ज्यादा, बीजेपी के पीएम कैंडिडेट नरेंद्र मोदी ही रहेंगे: राजनाथ सिंह राजनाथ सिंह

एजेंडा आज तक में पहुंचे बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने बुधवार को साफ कर दिया कि वह भारत के प्रधानमंत्री की रेस में कतई नहीं हैं और यह पद तो नरेंद्र मोदी के लिए ही है. उन्होंने कहा कि चाहे 170 सीट आए, या 200 सीट या ज्यादा, पीएम पद के लिए नरेंद्र मोदी ही हैं. अपनी स्थिति साफ करते हुए राजनाथ बोले कि मैं गाजियाबाद से ही चुनाव लड़ूंगा.

आडवाणी के मुद्दे पर राजनाथ बोले कि अटल आडवाणी ने ये पार्टी बनाई है. हम उनके योगदान को भूल नहीं सकते. फिर राजनाथ बोले कि आडवाणी जी कभी भी नाराज होते ही नहीं हैं.

मोदी पर बात करते हुए राजनाथ बोले कि उनकी सबसे बड़ी ताकत दृढ़ संकल्प होना है. राजनाथ ने गुजरात सरकार की पारदर्शिता की भी तारीफ की.

नरेंद्र मोदी में क्या कोई कमजोरी है. इस सवाल पर राजनाथ बोले कि मुझे उनमें गुण ही गुण और ताकत ही ताकत दिखाई देती है. फिर अगली ही सांस में वह बोले कि मैं राजनीतिक जीवन में दूसरों की कमी नहीं देखता और न ही बोलता हूं. फिर राजनाथ बोले कि मोदी की एक ही कमी है कि वह देशसेवा के फेर में सेहत का ख्याल नहीं रखते.

साहेब और जासूसी कांड के सवाल को राजनाथ ने सिरे से खारिज करते हुए कहा कि यह कांग्रेस की डर्टी ट्रिक्स हैं. उन्होंने कहा कि साहेब का शोर मचाने से नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता पर कोई असर नहीं आया है.

अपने बेटे के लोकसभा चुनाव में उतरने के कयास खारिज करते हुए राजनाथ सिंह बोले कि वह गाजियाबाद सीट से चुनाव लड़ेंगे.

ऑडियंस से पहला सवाल पूछा गया कि अगर बीजेपी की सरकार बनी तो टॉप 3 एजेंडा क्या होंगे. राजनाथ बोले कि आर्थिक हालात सुधारने के लिए ध्यान देना होगा. उन्होंने कहा कि आय की विषमता को कम करने की कोशिश की जाएगी और इसके लिए हर संभव कोशिश होगी. दूसरा एजेंडा उन्होंने युवाओं में बेरोजगारी का मुद्दा बताया. उन्होंने कहा कि अटल के वक्त रोजगार के अवसर करोड़ों में थे. इसके ऐवज में उन्होंने कुछ आंकड़े भी गिनाए. आखिरी एजेंडा राजनाथ ने बताया कि आंतरिक और बाह्य सुरक्षा पर ध्यान दिया जाएगा. राजनयिक स्तर पर भी बेहतर सरकार की बात उन्होंने कही.

राममंदिर के मुद्दे पर राजनाथ बोले कि यह मामला कोर्ट में है. फैसले का इंतजार करना चाहिए. उन्होंने कहा कि बाबरी मस्जिद को मस्जिद नहीं कहना चाहिए. राजनाथ बोले कि अगर कोई मस्जिद जहां नमाज अदा की जाती है, अगर कोई वहां हमला करता है, तो सबसे पहले बीजेपी उसकी रक्षा के लिए पहुंचेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
पाएं आजतक की ताज़ा खबरें! news लिखकर 52424 पर SMS करें. एयरटेल, वोडाफ़ोन और आइडिया यूज़र्स. शर्तें लागू
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay