एडवांस्ड सर्च

एजेंडा आज तक में बोले आमिर, 'धूम 3 की कहानी सुनकर रोने लगा था'

अपने परफेक्शन के लिए मशहूर एक्टर आमिर खान ने भी एजेंडा आज तक में शिरकत की. सेशन का नाम था- 'एजेंडा-ए-आमिर'. बहुत जल्द उनकी फिल्म 'धूम 3' भी रिलीज होने वाली है. फिल्म रिलीज से पहले आमिर ने साफ कहा कि वह फिल्म की कमाई की परवाह नहीं करते. उन्होंने शूटिंग के किस्से भी सुनाए

Advertisement
सौरभ द्विवेदी [Edited by: कुलदीप मिश्र]नई दिल्ली, 04 December 2013
एजेंडा आज तक में बोले आमिर, 'धूम 3 की कहानी सुनकर रोने लगा था' एजेंडा आज तक में आमिर खान

अपने परफेक्शन के लिए मशहूर एक्टर आमिर खान ने भी एजेंडा आज तक में शिरकत की. सेशन का नाम था- 'एजेंडा-ए-आमिर'. बहुत जल्द उनकी फिल्म 'धूम 3' भी रिलीज होने वाली है. फिल्म रिलीज से पहले आमिर ने साफ कहा कि वह फिल्म की कमाई की परवाह नहीं करते. उन्होंने शूटिंग के किस्से भी सुनाए.

धूम 3 में पहली बार एक्शन करने को लेकर...
धूम 3 में आमिर जबरदस्त एक्शन करते नजर आ रहे हैं. उन्होंने बताया, 'एक अरसे से मैंने एक्शन नहीं किया था.एक तरफ सत्यमेव जयते के दूसरे सीजन की तैयारी चल रही है. दूसरी तरफ धूम 3 के लिए सर्कस की ट्रेनिंग या फिर टैप डांस चल रहा था.फिलहाल मूवी का काम पूरा हो चुका है. बस प्रमोशन का कुछ हिस्सा बाकी है. अभी पूरा फोकस फिलहाल सत्यमेव जयते पर है. उसकी कहानी, उसके चेहरे सामने घूमते रहते हैं.'

आमिर ने कहा कि वह एक साथ बहुत सारी चीजें नहीं कर पाते हैं. ऐसा 13 साल बाद हो रहा है कि उन्होंने दो फिल्में एक साथ शूट कीं. ये फिल्में हैं पीके और धूम3.

धूम 3 की तैयारी का किस्सा
आमिर ने बताया कि धूम 3 की शूटिंग के दौरान वह सिंगल डिजिट बॉडी फैट तक पहुंच गए थे. अब ये 17-18 तक पहुंच गया है. पर इसमें बॉडी पर इतना फोकस नहीं है. उन्होंने बताया, 'मुझे जब प्रॉड्यूसर आदित्य चोपड़ा ने स्टोरी सुनाई. तो मैंने कहा कि हां, यार मैं करूंगा, पर मुझे एक साल चाहिए रोल की तैयारी के लिए. उन्हें अजीब लगा कि एक साल क्यों चाहिए. तो मैंने कहा यार जिम्नास्ट की तैयारी करनी होगी. वो बोले, लग तो रहे हो. मगर मैं अड़ा रहा. आज वह भी कहते हैं कि ये फैसला सही था.'

'फिल्म की कमाई मायने नहीं रखती'
जब आमिर से 100 करोड़ कमाई क्लब के दबाव के बारे में पूछा गया तो वह बोले, 'दबाव सिर्फ इतना होता है कि जो पैसे खर्च कर टिकट खरीद रहा है, उसे ये न लगे कि पैसे खराब हो गए. ये फिक्र रहती है कि वो एंटरटेन हुआ कि नहीं. मेरी सबसे फेवरिट फिल्म 'प्यासा' और 'मुगल-ए-आजम' हैं. मुझे नहीं पता कि उन्होंने कितना कमाया. अल्टीमेटली फिल्म आपके दिल में छूती है, जगह बनाती है. उसने कमाया कितना ये अहमियत नहीं रखता. मैं बस इतना चाहता हूं कि लोग मेरी फिल्म देखें और ये उनके लिए यादगार वाकया हो.'

'लॉस तो नहीं चाहता कोई'
जब आमिर से पूछा गया कि अगर फिल्म कमर्शियली न चले तो फर्क नहीं पड़ेगा, तो वह बोले कि इस बात का दुख उन्हें जरूर होगा क्योंकि एक फिल्म में बहुत पैसा लगता है. उन्होंने कहा, 'तो मेरी जिम्मेदारी है कि जिन्होंने पैसा लगाया है, उनका वापस हो जाए और 10-15 फीसदी मुनाफा भी हो जाए. तो लॉस मैं नहीं चाहता. कमाई कितनी ज्यादा हो जाए, 200 करोड़ हो जाए. उसकी ज्यादा फिक्र नहीं करता.'

आमिर फिल्मों को लेकर बहुत चूजी माने जाते हैं. जब उनसे धूम-3 के चुनाव पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि उन्हें इसकी कहानी, किरदार और मोड़ बहुत पसंद आए. उन्होंने बताया कि यह कहानी बहुत जज्बाती भी है. आमिर ने बताया, 'जब मैंने नैरेशन सुना तो मेरी आंखों में आंसू थे. इसमें सब कुछ है, एक्शन है, स्टंट है. बड़े-बड़े गाने हैं.'

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay