एडवांस्ड सर्च

एजेंडा आजतक में येचुरी ने बताया रोजगार का फॉर्मूला, बोले- हम पकौड़े तलने को नहीं कहते

येचुरी बोले कि आज किसान आत्महत्या कर रहा है, नौजवान परेशान है. इस सरकार को पैसों की लूट बंद करनी चाहिए, जनता के काम में उसका इस्तेमाल करना चाहिए.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 17 December 2018
एजेंडा आजतक में येचुरी ने बताया रोजगार का फॉर्मूला, बोले- हम पकौड़े तलने को नहीं कहते एजेंडा आजतक में सीताराम येचुरी (फोटो- aajtak)

आजतक के खास कार्यक्रम एजेंडा आजतक में पहुंचे CPI (M) नेता सीताराम येचुरी ने देश में रोजगार बढ़ाने का फॉर्मूला सुझाया. उन्होंने कहा कि हम लोग ये नहीं कहते कि पकौड़े बनाओ, आज 12 लाख करोड़ रुपए का एनपीए है. आधा पैसा भी वापस आए और सरकार बुनियादी ढांचे पर पैसा लगाए तो करोड़ों नई नौकरियों बनेंगी. लोग पैसा कमाएंगे तो खर्च करेंगे तो छोटे उद्योग फिर उठ खड़े होंगे.

उन्होंने कहा कि इस सरकार के कार्यकाल में एनपीए चार गुना बढ़ गया है, इस सरकार के राज में ही रघुराम राजन और उर्जित पटेल को जाना पड़ा है.

येचुरी बोले कि आज किसान आत्महत्या कर रहा है, नौजवान परेशान है. इस सरकार को पैसों की लूट बंद करनी चाहिए, जनता के काम में उसका इस्तेमाल करना चाहिए. प्रधानमंत्री की विदेश यात्रा पर उन्होंने कहा कि पीएम विदेश जाते हैं लेकिन बताते नहीं हैं कि क्या करते हैं और उनके साथ कौन जाता है.

सीताराम येचुरी ने कहा कि एंटी करप्शन को लेकर कानून पहले भी थे, लेकिन मोदी जी फोटो खिंचाकर अपनी उपलब्धि बताते हैं. उन्होंने कहा कि इस सरकार के राज में देश की संस्थाएं मुश्किल में आ गई हैं. ये मोदी सरकार की ही देन है कि सीबीआई में आधीरात को तख्तापलट हो जाता है. आरबीआई भी संकट में है, केंद्रीय बैंक से रिजर्व का पैसा मांगा जा रहा है.

उन्होंने कहा कि अगर केंद्रीय बैंक को ही अस्थिर कर दिया जाएगा, तो निवेशक भाग जाएंगे. व्यक्ति के आधार पर नहीं हम नीतियों के आधार पर विरोध कर रहे हैं. आज देश को नेता नहीं, नीति चाहिए.

एजेंडा आजतक का सातवां संस्करण

लगातार 18 साल से भारत के नंबर वन न्यूज चैनल 'आजतक' के हिंदी जगत के महामंच 'एजेंडा आजतक' का सातवां संस्करण आज से शुरू हो गया है. 17 और 18 दिसंबर' 2018 को दिल्ली में 'एजेंडा आजतक' में शामिल होंगे वे लोग जिन्होंने राजनीति, व्यापार, बॉलीवुड और क्रिकेट में कामयाबी की बुलंदियां हासिल की हैं.

हमारी इस मुहिम का मकसद है उस एजेंडे को लोगों के सामने लेकर आना जो दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के विचारकों और चिंतकों की सोच है. ये देश में देश की आवाज का एजेंडा होगा. तो आइए और तय करिए देश का एजेंडा, इन दिग्गजों के साथ.

दो दिन तक चलने वाले 'एजेंडा आजतक' में केंद्र सरकार के कई आला मंत्रियों समेत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के अलावा राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट और अन्य नेता भी शिरकत करेंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay