एडवांस्ड सर्च

राजधर्म निभाओ जैसा निर्देश देने वाला अटल जैसा व्यक्ति BJP में कोई दूसरा नहीं: सिंधिया

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा वाजपेयी जी ने एक राज्य के सीएम को राजधर्म निभाने का निर्देश दिया था, उनके जैसा व्यक्ति बीजेपी में कोई दूसरा नहीं है. मैं वाजपेयी जी का सम्मान करता हूं. क्योंकि वे एक अच्छे इंसान थे. इस देश को एक अच्छे इंसान की जरूरत है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 18 December 2018
राजधर्म निभाओ जैसा निर्देश देने वाला अटल जैसा व्यक्ति BJP में कोई दूसरा नहीं: सिंधिया ज्योतिरादित्य सिंधिया

आजतक के महामंच 'एजेंडा आजतक' में कांग्रेस के युवा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शिरकत की. मध्य प्रदेश में कांग्रेस की जीत में अहम भूमिका निभाने वाले सिंधिया ने इस दौरान पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी की तारीफ की, लेकिन साथ ही उन्होंने बीजेपी पर हमला बोला. उन्होंने कहा वाजेपयी जी की बीजेपी और आज की बीजेपी में जमीन-आसमान का अंतर है. सिंधिया ने कहा कि वाजपेयी जी ने एक राज्य के सीएम को राजधर्म निभाने का निर्देश दिया था, उनके जैसा व्यक्ति बीजेपी में कोई दूसरा नहीं है. मैं वाजपेयी जी का सम्मान करता हूं. क्योंकि वे एक अच्छे इंसान थे. इस देश को एक अच्छे इंसान की जरूरत है.

कांग्रेस के इस युवा नेता ने कहा कि लोकतंत्र में मतभेद होना चाहिए, क्योंकि मतभेद से ही समाधान होता है. मनभेद नहीं होना ताहिए. कांग्रेस और बीजेपी में अंतर है. हम विरोधी हैं लेकिन दुश्मन नहीं हैं.

उन्होंने कहा कि हमारे अध्यक्ष राहुल गांधी पीएम मोदी के समक्ष जाकर उनका हाथ पकड़ते हैं. बीजेपी ऐसा नहीं करती. अटल बिहारी वाजपेयी और नरेंद्र मोदी की बीजेपी में जमीन आसमान का अंतर है. मैं वाजपेयी जी का सम्मान करता हूं. क्योंकि वे एक अच्छे इंसान थे. इस देश को एक अच्छे इंसान की जरूरत है.

सिंधिया ने कहा कि देश और हर राज्य में एक मजबूत होना चाहिए. सरकार की कमजोरियों को सामने लाना विपक्ष की जिम्मेदारी होती है. इसके अलावा समाधान देना भी विपक्ष की जिम्मेदारी होती है. बीजेपी में कोई सुनने को तैयार नहीं होता है.

'कांग्रेस में अध्यक्ष पद रिजर्व नहीं'

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि कांग्रेस वो पार्टी है जहां पंचायत से राज्य और राष्ट्र स्तर तक चुनाव होता. यहां किसी को अध्यक्ष का चुनाव लड़ने से नहीं रोका जाता. यहां ज्योतिरादित्य या कोई भी चुनाव लड़ सकता है. मेरा विश्वास था कि राहुल गांधी पार्टी के अध्यक्ष बनें. उनमें वो क्षमता है. मेरा वोट उनके साथ था. दरअसल सिंधिया से पूछा गया कि गांधी परिवार के अलावा कोई और कांग्रेस का अध्यक्ष क्यों नहीं बन सकता. इस सवाल के जवाब में उन्होंने यह बयान दिया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay