एडवांस्ड सर्च

एजेंडा आज तक में बोले जावड़ेकर- शिक्षा की गुणवत्ता पर जोर, 98 फीसदी बच्चे स्कूल पहुंचे

एजेंडा आज तक के कार्यक्रम में केन्द्र सरकार के मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर पुण्य प्रसून वाजपेयी से रू-ब-रू हुए. इस सत्र में उन्होंने देश की शिक्षा व्यवस्था पर काफी कुछ कहा.

Advertisement
aajtak.in
पुण्य प्रसून वाजपेयी नई दिल्ली, 07 December 2016
एजेंडा आज तक में बोले जावड़ेकर- शिक्षा की गुणवत्ता पर जोर, 98 फीसदी बच्चे स्कूल पहुंचे एजेंडा आज तक- प्रकाश जावड़ेकर

उन्होंने कहा कि शिक्षा पॉलिटिकल एजेंडा नहीं है, यह नेशनल एजेंडा है. शिक्षा पर हम राजनीति नहीं करते हैं. एक दूसरे के अच्छे कार्यों का आदान-प्रदान करने से शिक्षा में सुधार होगा. जहां यूनिवर्सिटीज अच्छी हो, रिसर्च की सुविधा हो, वही देश विकास करता है. हर 20 साल में शिक्षा नीति में सुधार जरूरी है. अपनी सरकार की प्राथमिकता गिनाते हुए उन्होंने कहा कि शिक्षा व्यवस्था को मिशन मोड में सुधारेंगे. शिक्षकों की खानापूर्ति नहीं चलेगी. सबका साथ, सबका विकास, सबको अच्छी शिक्षा हमारी सरकार का लक्ष्य है.

संस्कृत की पढ़ाई पर उन्होंने कहा कि तीन भाषाओं का फॉर्मूला ही जारी रहेगा. भाषा को लेकर कोई जबरदस्ती नहीं. सभी भाषाओं का आदर होना चाहिए. सिर्फ विषय का ज्ञान शिक्षा नहीं है. शिक्षा के जुनून को जिंदा रखना ही असली शिक्षा होती है.

कश्मीर में स्कूलों की हालत जावडेकर ने कहा कि बच्चों ने स्कूल नहीं छोड़ा. घर में भी पढ़ाई की. बोर्ड परीक्षा में शानदार प्रदर्शन रहा. लेकिन नोटबंदी के बाद पत्थरबाजी की घटनाएं भी बंद हो गईं. स्कूल जलाने वालों को क्या सजा होनी चाहिए, यह मीडिया में डिबेट का इश्यू होना चाहिए.

पुणे में नोटबंदी से स्कूलों में पढ़ाई पर असर पर उन्होंने कहा कि 50 साल के काला धन रूपी कैंसर को हटाना है तो 50 दिन थोड़ी तकलीफ होगी. पीएम मोदी ने यह पहले दिन ही कहा था. जनता ने देश को बदलने का संकल्प लिया है, समझना यह है कि चंद लोग उसे समझ नहीं रहे हैं कि नहीं.

बच्चों के बस्ते के वजन पर उन्होंने कहा कि सरकार इसे कम करने के उपाय कर रही है. स्कूलों में प्रोजेक्ट वर्क दिए जाते हैं, जो बच्चे नहीं बल्कि पैरेंट्स करते हैं. इसे बदलना होगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay