एडवांस्ड सर्च

Advertisement

115 की उमर में भी वोट डालने का जज्‍बा

चुनाव की आपाधापी के बीच देश में एक शख्‍य ऐसा भी है, जो 115 साल की अवस्‍था में भी वोट डालने का जज्‍बा रखता है. चुनाव कार्यक्रम । शख्सियत । विश्‍लेषण । अन्‍य वीडियो । चुनाव पर विस्‍तृत कवरेज
115 की उमर में भी वोट डालने का जज्‍बा पतराम पवार
आज तक ब्‍यूरोगुड़गांव, 28 April 2009

देश में हर ओर चुनाव की ही चर्चा है. एक ओर नेतागण रोड शो और रैलियां करने में मशगुल हैं, तो दूसरी ओर वोटर अपना मत कायम करने और कहीं-कहीं जूते-चप्‍पल चार्ज करने में व्‍यस्‍त हैं. इस आपाधापी के बीच देश में एक शख्‍स ऐसा भी है, जो 115 साल की अवस्‍था में भी वोट डालने का जज्‍बा रखता है.

खास बात यह कि पतराम पवार नाम के इस शख्‍स ने पहली लोकसभा से लेकर अब तक के सभी लोकसभा के लिए हुए चुनाव में वोट डाला है. इस बार फिर वे अपनी कांपती उंगली में स्‍याही लगवाने को तैयार हैं.

पतराम गुड़गांव के खिड़की मजीरा गांव रहने वाले हैं. देश में हुए पहले आम चुनाव में वोट डालने की बात याद करके वे काफी उत्‍साहित हो जाते हैं. उनका कहना है कि वे जब तक जीवित रहेंगे, वोट जरूर डालेंगे.

पतराम की 90 वर्षीया बहन हरप्‍यारी भी 7 मई को वोट डालेंगी. उन्‍होंने भी अपने भाई की तरह अब तक के सभी चुनावों में वोट डाला है. उत्‍साहित होकर वे कहती हैं कि इस बार वे अपने भाई के साथ ही जाकर वोट डालेंगी. कुल मिलाकर इनका परिवार 'पप्‍पुओं' के लिए सही सबक सिखाता नजर आ रहा है.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay