एडवांस्ड सर्च

Advertisement

रोमांचक मैच में 5 विकेट से जीता मुंबई

ट्वेंटी-20 लीग में मुंबई ने कोलकाता को 5 विकेट से हरा दिया. कोलकाता ने मुंबई के सामने जीत के लिए 176 रन का लक्ष्‍य रखा था.
रोमांचक मैच में 5 विकेट से जीता मुंबई गौतम गंभीर
भाषाकोलकाता, 23 May 2011

जेम्स फ्रैंकलिन की विषम परिस्थितियों में खेली नाबाद 45 रन की आतिशी पारी की बदौलत मुंबई ने कोलकाता को अंतिम गेंद पर पांच विकेट से हराकर लगातार तीन हार के क्रम को भी तोड़ दिया.

जाक कैलिस (59) के जुझारू अर्धशतक की मदद से कोलकाता ने सात विकेट पर 175 रन का मजबूत स्कोर खड़ा किया था जिसके जवाब में मुंबई ने फ्रेंकलिन की तूफानी पारी की मदद से पांच विकेट पर 178 रन बनाकर जीत दर्ज की. अंबाती रायुडू (नाबाद 17) ने लक्ष्मीपति बालाजी की पारी की अंतिम गेंद को डीप स्क्वायर लेग के उपर से छह रन के लिए भेजकर टीम को जीत दिलाई.

फ्रैंकलिन ने 23 गेंद की अपनी पारी में पांच चौके और एक छक्का लगाया जबकि रायुडू ने छह गेंद का सामना करते हुए दो छक्के जड़े. दोनों ने सिर्फ 2.3 ओवर में नाबाद 41 रन की साझेदारी की.

मुंबई को पारी के अंतिम ओवर में जीत के लिए 21 रन की जरूरत थी. ऐसे समय में फ्रैंकलिन ने बालाजी की पहली चार गेंद पर चौके जड़कर मुंबई को जीत के करीब पहुंचाया जबकि रायुडू ने अंतिम गेंद पर छक्का जड़कर टीम को लक्ष्य तक पहुंचा दिया.

मुंबई की ओर से कप्तान सचिन तेंदुलकर ने 38 जबकि हरभजन सिंह ने 30 रन की उम्दा पारी खेली. तेंदुलकर ने हालांकि हरभजन को पिंच हिटर जबकि बेहतरीन फार्म में चल रहे रायुडू को सातवें नंबर पर भेजकर हैरान किया.

इस जीत के साथ मुंबई आईपीएल तालिका में 14 मैचों में नौ जीत के साथ 18 अंक जुटाकर तीसरे स्थान पर रहा. टीम अब 25 मई को होने वाले एलिमिनेटर में वानखेड़े स्टेडियम में कोलकाता से ही भिड़ेगी जो आठ जीत से 16 अंक जुटाकर चौथे स्थान पर रहा.

मुंबई ने दूसरे ओवर में ही टीएल सुमन (04) का विकेट गंवा दिया जिन्हें इकबाल अब्दुल्ला ने यूसुफ पठान के हाथों कैच कराया. तेंदुलकर ने इसके बाद हरभजन (30) के साथ दूसरे विकेट के लिए तेजी से 57 रन जोड़े. तेंदुलकर ने ब्रेट ली की गेंद पर लगातार दो चौकों के साथ शुरुआत की जबकि हरभजन ने भी इस गेंदबाज पर लगातरा दो चौके मारे. हरभजन ने लक्ष्मीपति बालाजी पर भी दो चौके जड़े.

गंभीर ने नौवें ओवर में गेंद रजत भाटिया को थमाई जिन्होंने पहली ही गेंद पर हरभजन को मनोज तिवारी के हाथों कैच कराया. उन्होंने 29 गेंद की अपनी पारी में पांच चौके मारे.

भाटिया ने अगले ओवर में रोहित शर्मा (10) को भी विकेट के पीछे श्रीवत्स गोस्वामी के हाथों कैच कराया. उन्होंने इसके बाद तेंदुलकर को भी पवेलियन भेजकर मुंबई की बल्लेबाजी की रीढ़ तोड़ दी. तेंदुलकर भाटिया की लेग कटर को हटकर खेलने की कोशिश में गंभीर को आसान कैच दे बैठे.

मुंबई की टीम को जीतने के लिए अंतिम सात ओवर में 79 रन की दरकार थी लेकिन फ्रेंकलिन और रायुडू ने मैच का रुख मुंबई के पक्ष में मोड़ दिया.

इससे पहले कैलिस ने यूसुफ पठान (36) के साथ चौथे विकेट के लिए 57 और मनोज तिवारी (35) के साथ तीसरे विकेट के लिए 45 रन की साझेदारी करके टीम को मजबूत स्कोर तक पहुंचाया. कोलकाता की शुरुआत खराब रही और उसने 22 रन के स्कोर तक ही सलामी बल्लेबाज श्रीवत्स गोस्वामी (01) और कप्तान गौतम गंभीर (08) के विकेट गंवा दिये.

गोस्वामी दूसरे ओवर में ही कैलिस के साथ गलतफहमी का शिकार होकर रन आउट हुए जबकि गंभीर अबु नेचिम पर प्वाइंट के उपर से छक्का जड़ने के बाद इसी गेंदबाज की अगली गेंद पर बोल्ड हो गये.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay