एडवांस्ड सर्च

IPL-5 में दिखा मैच फिक्सिंग का 'डर्टी गेम'!

एक टीवी चैनल ने मंगलवार को दावा किया कि उसने आईपीएल में खिलाड़ियों, आयोजकों, मालिकों और भारतीय क्रिकेट के जाने माने लोगों के बीच ‘संदिग्ध सौदों’ का भंडाफोड़ किया है. इसके बाद बीसीसीआई को चेतावनी देनी पड़ी कि अगर यह खबर सही निकली तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

Advertisement
आजतक ब्‍यूरो/भाषानई दिल्ली, 15 May 2012
IPL-5 में दिखा मैच फिक्सिंग का 'डर्टी गेम'!

एक टीवी चैनल ने मंगलवार को दावा किया कि उसने आईपीएल में खिलाड़ियों, आयोजकों, मालिकों और भारतीय क्रिकेट के जाने माने लोगों के बीच ‘संदिग्ध सौदों’ का भंडाफोड़ किया है. इसके बाद बीसीसीआई को चेतावनी देनी पड़ी कि अगर यह खबर सही निकली तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

टीवी चैनल ने दावा किया है कि उसने एक स्टिंग ऑपरेशन किया है जिसमें कई खिलाड़ियों को छिपे हुए कैमरे में यह स्वीकार करते हुए कैद किया गया है कि उन्हें अनधिकृत रूप से नीलामी में तय राशि से कहीं अधिक पैसा मिलता है.

टीवी चैनल के मुताबिक उसके आपरेशन में खुलासा हुआ है कि आईपीएल में स्पाट फिक्सिंग मौजूद ही नहीं है बल्कि प्रथम श्रेणी मैचों को भी फिक्स किया जाता है और महिलाएं मैच फिक्सिंग में अहम भूमिका निभाती हैं. चैनल ने एक बयान में कहा कि भारतीय क्रिकेट के सुपरस्टार और यहां तक कि एक टीम का कप्तान अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी भी इन मैचों को फिक्स करने में मिला हुआ है.

इस स्टिंग आपरेशन के बारे में पूछने पर बीसीसीआई प्रमुख एन श्रीनिवासन ने कहा, ‘हम सुनिश्चित करेंगे कि खेल की अखंडता को बचाया जा सके. बीसीसीआई खेल की अखंडता में विश्वास रखता है. हम कड़ी से कड़ी कार्रवाई करेंगे. हमारे पास यह टेप होनी चाहिए और फिलहाल हम देखेंगे कि कौन खिलाड़ी है, हम बेहद कड़ी कार्रवाई करेंगे.’

श्रीनिवासन ने कहा, ‘अगर इसमें कोई भी सच्‍चाई है. तो यह तथ्य है कि हम कड़ी से कड़ी कार्रवाई करेंगे. अगर इसका मतलब खिलाड़ी को तुरंत निलंबित करना भी हुआ तो हम करेंगे. लेकिन यह सबूतों और तथ्यों पर आधारित होना चाहिए और इसके लिए मैंने आईपीएल के सीओओ सुंदर रमन को टेप हासिल करने के लिए आग्रह करने को कहा है.’

बीसीसीआई अध्यक्ष ने कहा कि उन्होंने आईपीएल संचालन परिषद से बात की है जिससे कि सुबह इस मामले में संचालन परिषद की टेली कांफ्रेंस हो सके. हम दिखाना चाहते हैं कि इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. उन्होंने कहा, ‘हमारा मानना है कि आईपीएल पाक साफ है. भ्रष्टाचार रोधी इकाई इस पर नजर रख रही है. वे सुरक्षा के प्रभारी हैं. हमारे पास रवि स्वामी हैं जो बीसीसीआई की भ्रष्टाचार रोधी इकाई के प्रमुख हैं.’

श्रीनिवासन ने कहा, ‘लोग आरोप लगा सकते हैं लेकिन अगर साक्ष्यों में कोई सचाई हुई तो हम कार्रवाई करेंगे.’ चैनल ने दावा किया कि एक आईपीएल खिलाड़ी ने स्वीकार किया कि उसे एक करोड़ 45 लाख रुपये मिल रहे हैं जबकि वह 30 लाख रुपये के वर्ग में था. इसमें एक आईपीएल खिलाड़ी का नाम लिया गया है और दावा किया गया है कि उसने पिछले साल चैनल के रिपोर्टर के जोर देने पर प्रथम श्रेणी मैच में नोबाल फेंकी थी.

उसने साथ ही कहा था कि भविष्य में अगर उसे 60 लाख रुपये मिले तो वह अपनी टीम बदल लेगा. चैनल ने कहा कि एक अन्य खिलाड़ी ने आईपीएल मैच के दौरान नोबाल फेंकने के लिए 10 लाख रुपये की मांग की. चैनल ने साथ ही कहा कि एक पैटर्न भी बना है जिसमें कोई गेंदबाज आसान गेंद फेंकता है और कैच भी छोड़े जाते हैं.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay