एडवांस्ड सर्च

जीत के साथ विदा लेना चाहेंगे पुणे और दिल्‍ली

टी-20 के अब तक के सफर में हार से बेजार दिल्ली और पुणे शनिवार को इस सत्र के अपने आखिरी मैच में जीत के साथ विदा लेने के इरादे से उतरेंगे.

Advertisement
भाषानई दिल्ली, 20 May 2011
जीत के साथ विदा लेना चाहेंगे पुणे और दिल्‍ली

टी-20 के अब तक के सफर में हार से बेजार दिल्ली और पुणे शनिवार को इस सत्र के अपने आखिरी मैच में जीत के साथ विदा लेने के इरादे से उतरेंगे.

निचले स्थान पर काबिज दोनों टीमों के इस मुकाबले में बहुत कुछ इस बात पर निर्भर होगा कि उन्‍हें शुरूआत कैसी मिलती है. कोलकाता से बदला चुकता करने में नाकाम रहे पुणे के बल्लेबाज सौरव गांगुली अच्छी पारी खेलकर अलविदा कहना चाहेंगे.

वीरेंद्र सहवाग की गैर मौजूदगी में दिल्‍ली की बल्लेबाजी बहुत कमजोर हो गई है लिहाजा मध्यक्रम पर दबाव बन जाता है. कंधे की चोट के कारण सहवाग टूर्नामेंट से बाहर हैं. कार्यवाहक कप्तान जेम्स होप्स के पास युवाओं से भरी टीम है जिसमें अनुभव की कमी साफ नजर आती है.

इरफान पठान ने टुकड़ों में अच्छा प्रदर्शन किया है. पंजाब के खिलाफ पिछले मैच में उसने पाल वलथाटी और शान मार्श समेत तीन विकेट लिये थे. दूसरी ओर मोर्नी मोर्कल अपेक्षाओं पर खरे नहीं उतर सके हैं. युवा वरूण आरोन के पास रफ्तार है लेकिन विविधता नहीं.

दिल्‍ली के पास स्तरीय स्पिनर का भी अभाव है. योगेश नागर और श्रीधरन श्रीराम रनों के प्रवाह पर रोक लगाने में नाकाम रहे हैं. बल्लेबाजों में नमन ओझा और डेविड वार्नर प्रभावित नहीं कर सके. वेणुगोपाल राव ने फिनिशर की भूमिका नहीं निभाई. पुणे का भी यही हाल है जिसने 13 में से सिर्फ चार मैच जीते हैं.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay