एडवांस्ड सर्च

Advertisement

भारतीय निशानेबाजों का दमदार प्रदर्शन जारी

भारतीय निशानेबाजों ने एक घंटे से भी कम समय में एक स्वर्ण और दो रजत सहित तीन पदक जीतकर मौजूदा राष्ट्रमंडल खेलों में अपना बेजोड़ प्रदर्शन जारी रखा.
भारतीय निशानेबाजों का दमदार प्रदर्शन जारी
भाषानई दिल्‍ली, 12 October 2010

भारतीय निशानेबाजों ने एक घंटे से भी कम समय में एक स्वर्ण और दो रजत सहित तीन पदक जीतकर मौजूदा राष्ट्रमंडल खेलों में अपना बेजोड़ प्रदर्शन जारी रखा.

हीना सिद्धू और अनु राज सिंह ने महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल पेयर्स स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता जबकि ‘गोल्डफिंगर’ समरेश जंग ने चंद्रशेखर कुमार चौधरी के साथ मिलकर पुरुषों की 25 मीटर स्टैंडर्ड पिस्टल पेयर्स में रजत पदक हासिल किया.

इस बीच तेजस्विनी ने मौजूदा खेलों में अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन में से एक करते हुए कर्णी सिंह शूटिंग रेंज में महिलाओं की 50 मीटर प्रोन स्पर्धा का रजत पदक जीता.

महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल में भारतीय जोड़ी को कड़ी टक्कर मिली क्योंकि अंतिम राउंड के बाद भारत के अलावा आस्ट्रेलिया और कनाडा भी 759 अंक के साथ शीर्ष पर चल रहे थे.

डोरथी लुडविग (380) और लिंडा हेयर (379) की जोड़ी को सबसे कम परफेक्ट 10 का स्कोर बनाने पर कांस्य पदक मिला. भारत और आस्ट्रेलिया की जोड़ियो ने परफेक्ट 10 के 21-21 स्कोर बनाये जबकि कनाडा की जोड़ी 14 बार ही ऐसा कर सकी. बाद में भारतीय जोड़ी को काउंटबैक के आधार पर विजेता घोषित किया गया.

हीना (384) और अनु (375) ने इस तरह निशानेबाजी में भारत को 14वां स्वर्ण दिलाया जबकि आस्ट्रेलिया की डिना अस्पानदियारोवा (384) और पामेला मैकेन्जी (375) की जोड़ी को रजत पदक से संतोष करना पड़ा.

तेजस्विनी की स्पर्धा में स्काटलैंड की जेन मैकिनटोश ने 597 अंक के राष्ट्रमंडल रिकार्ड के साथ स्वर्ण पदक जीता. उन्होंने आस्ट्रेलिया की कैरोलिन क्विग्ले और भारत की रूपा उन्नीकृष्णन के 1998 के कुआलालम्पुर खेलों में बनाये 590 अंक के रिकार्ड को पीछे छोड़ा.

भारत की पहली महिला विश्व चैम्पियन तेजस्विनी ने 594 अंक के साथ रजत जबकि वेल्स की जोहान ब्रेके ने 593 अंक के साथ कांस्य पदक जीता.

पुरुषों की 25 मीटर स्टैंडर्ड पिस्टल में जंग (561) और चौधरी (542) ने कुल 1103 के स्कोर के साथ रजत पदक जीता. सिंगापुर के बिन गाई (564) और लिप मेंग पोह (552) ने 1116 अंक के साथ स्वर्ण पदक अपने नाम किया. इंग्लैंड के माइकल गाल्ट (554) और इकबाल उब्ही (544) को कांस्य पदक मिला.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay